Home /News /haryana /

नई उड़ान भरेगा हरियाणा, स्कूल स्तर से बच्चों को पायलट बनाने की तैयारी कर रही खट्टर सरकार

नई उड़ान भरेगा हरियाणा, स्कूल स्तर से बच्चों को पायलट बनाने की तैयारी कर रही खट्टर सरकार

हरियाणा में फ्लाइंग स्कूल चलाने की संभावनाओं का पता लगाया जा रहा.

हरियाणा में फ्लाइंग स्कूल चलाने की संभावनाओं का पता लगाया जा रहा.

Haryana News: भिवानी-महेंद्रगढ़ के बाद करनाल-पिंजौर में भी फ्लाइंग स्कूल खोलने की तैयारी. देश का पहला एयरो म्यूजियम भी गुरुग्राम में बनाने पर चर्चा.

    चंडीगढ़. हरियाणा में चार जगहों पर पब्लिक प्राइवेट पार्टनरशिप (पीपीपी) के आधार पर फ्लाइंग स्कूल (Flying School) चलाने की संभावनाओं का पता लगाया जा रहा है. दो जगहों के लिए तो टेंडर भी अलॉट कर दिए गए हैं. हिसार में अंतरराष्ट्रीय विमानन केंद्र की स्थापना के अलावा हरियाणा प्रदेश में मौजूदा हवाई पट्टियों का सुधारीकरण किया जाएगा. ये निर्णय हरियाणा के उपमुख्यमंत्री दुष्यंत चौटाला (Deputy Chief Minister Dushyant Chautala) की अध्यक्षता में आयोजित नागरिक उड्डयन विभाग के अधिकारियों की बैठक में लिया गया.

    बैठक में डिप्टी सीएम दुष्यंत चौटाला ने नागरिक उड्डयन विभाग के अधिकारियों को निर्देश देते हुए कहा कि महेंद्रगढ़ व भिवानी में पीपीपी आधार पर फ्लाइंग स्कूल चलाने के लिए टेंडर हो चुके हैं. अब करनाल तथा पिंजौर में यह स्कूल चलाने के लिए संभावनाओं का पता लगाएं. उन्होंने महेंद्रगढ़ जिला के नारनौल के पास बाछौद और भिवानी की हवाई पट्टियों के सुधारीकरण पर विस्तार से चर्चा की. इन हवाई पट्टियों के रनवे पर लाइटें लगवाई जाएंगी तथा हवाई पट्टी के साथ-साथ टैक्सी ट्रैक बनाया जाएगा.

    यही नहीं, टर्मिनल बिल्डिंग एवं नेविगेशन में उपयोगी यंत्र (वीओआर/डीएमई) भी लगाए जाएंगे. नारनौल में एक और अतिरिक्त हैंगर भी स्थापित करने पर सहमति बनी. वहां पर ऑफिस बिल्डिंग के लिए पिंजौर के लिए बनाए गए मॉडल को अपनाया जाएगा. इसी प्रकार, भिवानी हवाई पट्टी के रनवे का विस्तार करके उस पर लाइट लगवाने का निर्णय लिया गया. भिवानी हवाई पट्टी के साथ-साथ पैरलेल टैक्सी ट्रैक बनाकर हवाई पट्टी का सुधार किया जाएगा. वहां पर पहले से बनी बिल्डिंग के स्पेशल रिपेयर को भी मंजूरी दी गई.

    बैठक में गुरुग्राम में द्वारका एक्सप्रेस-वे के साथ में प्रस्तावित ग्लोबल सिटी में हेलीपोर्ट और एयरो म्यूजियम विकसित करने की संभावनाओं पर भी चर्चा की गई. दुष्यंत चौटाला ने इनकी संभावनाओं का पता लगाने के निर्देश देते हुए कहा कि एयरो म्यूजियम देश में कहीं नहीं है और यदि गुरुग्राम में बनाया जाता है तो यह अपनी तरह का अनूठा प्रयास होगा. उन्होंने यह भी कहा कि यदि हेलीपोर्ट यहां बनता है तो उससे गुरुग्राम व आसपास के क्षेत्र में औद्योगीकरण और व्यापार को बढ़ावा मिलेगा.

    डिप्टी सीएम ने कहा कि हेलीपोर्ट और एयरो म्यूजियम भी पीपीपी आधार पर बनवाने का प्रयास रहेगा. उपमुख्यमंत्री ने कहा कि हरियाणा को एयरोस्पेस और डिफेंस के क्षेत्र में उद्योगों का हब बनाने की दिशा में काम किया जा रहा है. इसके लिए एयरोस्पेस और डिफेंस पॉलिसी बनाई जा रही है. उन्होंने कहा कि ऑटो सेक्टर में तो हरियाणा राज्य पहले से ही अग्रणी है, अब एयरोस्पेस एंड डिफेंस पॉलिसी बनाकर राज्य में इनसे जुड़े अधिक से अधिक उद्योगों को आमंत्रित करने का लक्ष्य रखा गया है जिससे कि हरियाणा इन क्षेत्रों में भी हब बन सके. उन्होंने कहा कि हिसार में जो एविएशन हब तैयार हो रहा है उससे एयरोस्पेस और डिफेंस क्षेत्र के अन्य उद्योगों को भी आने का अवसर मिलेगा.

    Tags: Deputy Chief Minister Dushyant Chautala, Haryana Government, Pilot

    विज्ञापन

    राशिभविष्य

    मेष

    वृषभ

    मिथुन

    कर्क

    सिंह

    कन्या

    तुला

    वृश्चिक

    धनु

    मकर

    कुंभ

    मीन

    प्रश्न पूछ सकते हैं या अपनी कुंडली बनवा सकते हैं ।
    और भी पढ़ें
    विज्ञापन

    टॉप स्टोरीज

    अधिक पढ़ें

    अगली ख़बर