• Home
  • »
  • News
  • »
  • haryana
  • »
  • हरियाणा सरकार गौ रक्षकों को जारी करेगी आधार से जुड़े आई-काॅर्ड

हरियाणा सरकार गौ रक्षकों को जारी करेगी आधार से जुड़े आई-काॅर्ड

गाय (फाइल फोटो- गैटी इमेजेज)

गाय (फाइल फोटो- गैटी इमेजेज)

हरियाणा में गौरक्षा के नाम पर बढ़ रहे गुंडागर्दी और मारपीट के मामलों को रोकने के लिए अब हरियाणा सरकार गौरक्षा दलों के गौरक्षकों और कार्यकर्ताओं को आईडी काॅर्ड जारी करेगी.

  • Share this:
 

हरियाणा में गौरक्षा के नाम पर बढ़ रहे गुंडागर्दी और मारपीट के मामलों को रोकने के लिए अब हरियाणा सरकार गौरक्षा दलों के गौरक्षकों और कार्यकर्ताओं को आईडी काॅर्ड जारी करेगी. ये आईडी काॅर्ड हरियाणा पुलिस से वेरिफिकेशन और रजिस्ट्रेशन करवाने के बाद जारी किए जाएंगे और गौरक्षकों और गौ रक्षा दलों के कार्यकर्ताओं के आधार कार्ड भी इन आइ कार्ड के साथ लिंक किए जाएंगे.

हरियाणा सरकार का कहना है कि उनकी इस कोशिश के जरिए गौरक्षा के नाम पर गुंडागर्दी करने वाले दलों और लोगों पर रोक लगेगी और ये गौरक्षक और कार्यकर्ताओं वो होंगे जिनकी पूरी जानकारी हरियाणा पुलिस के पास मौजूद रहेगी और ये लोग गो तस्करी या गौमांस सप्लाई की खबर मिलने पर पुलिस को सूचित करेंगे.

फिलहाल गौरक्षकों को आई कार्ड जारी करने की बात कबूल करके हरियाणा सरकार ने कहीं ना कहीं ये मान लिया है कि हरियाणा में गौ रक्षक गाय के नाम पर गुंडागर्दी और मारपीट करते हैं और इसी तरह की घटनाओं को रोकने के लिए अब गौ रक्षकों का वेरिफिकेशन  और फिर उन्हें आई कार्ड जारी किए जाएंगे.

हाल ही में गाय के नाम पर हरियाणा में हुई घटनाओं को लेकर सीएम मनोहर लाल खट्टर ने भी चिंता जताई और कहा कि गौ रक्षा के नाम पर किसी को भी कानून व्यवस्था अपने हाथ में लेने की इजाजत नहीं दी जाएगी और इसी के लिए इन मुद्दे से जुड़े विभागों को कड़े कदम उठाने के निर्देश दिए गए हैं.

गोरक्षकों को आई कार्ड जारी करने के हरियाणा सरकार के फैसले को लेकर हरियाणा की विपक्षी पार्टी कांग्रेस ने सरकार पर तीखा हमला बोला और कहा कि हरियाणा की भाजपा सरकार के पास जनता को बताने के लिए कुछ नहीं है और जनता को जो वायदे करके ये सरकार सत्ता हासिल करने में कामयाब हुई थी वो वादे अधर में लटके हैं इसी वजह से जनता का ध्यान भटकाने के लिए और अपनी विफलताओं को छुपाने के लिए खट्टर सरकार आये दिन गायों के नाम पर कोई ना कोई इस तरह की बात करती रहती है ताकि जनता का ध्यान सरकार के कामकाज से हटाया जा सके.

पढ़ें Hindi News ऑनलाइन और देखें Live TV News18 हिंदी की वेबसाइट पर. जानिए देश-विदेश और अपने प्रदेश, बॉलीवुड, खेल जगत, बिज़नेस से जुड़ी News in Hindi.

विज्ञापन