हरियाणा सरकार करेगी 22 खूंखार कैदियों को जल्द रिहा

इस मामले पर जेल मंत्री ने अधिकारियों के साथ की बैठक

इस मामले पर जेल मंत्री ने अधिकारियों के साथ की बैठक

22 Prisoner Will Release in Haryana: 22 कैदियों को अच्छे आचारण के आधार पर रिहा करने पर विचार किया जा रहा है.

  • Share this:

चंडीगढ़. हरियाणा के जेल मंत्री रणजीत सिंह ने कहा कि अच्छे आचरण वाले कैदियों (Prisoners) की रिहाई के मामलों को सरकार (Government) के पास भेजा जाएगा. इनको समय से पहले छोड़ने पर सरकार अंतिम निर्णय लेगी. रंजीत सिंह ने इसको लेकर बैठक की इसमें 22 कैदियों को अच्छे आचारण के आधार पर रिहा करने पर विचार किया गया तथा जेल में रहते हुए इन सभी के व्यवहार पर मंथन भी हुआ. इन सभी मामलों को अंतिम फैसले के लिए सरकार के पास भेजा जा रहा है. इनमें ऐसे मामले शामिल हैं जिनकी सजा पूरी हो चुकी है. जेल मंत्री ने कहा कि इसके अलावा राज्य में  कैदियों को कोविड कि वजह से बाहर भी रखा गया था.

उन्होंने कहा कि बीमारी के कारण गुरमीत सिंह कितने दिन तक मेदांता में रहेंगे यह उनके स्वास्थ्य की स्थिति और डॉक्टर्स कि रिपोर्ट के आधार पर तय होगा. बिजली मंत्री के तौर पर चौधरी रणजीत सिंह ने कहा कि किसानों को ट्यूबवेल कनेक्शन के लिए हमारी सरकार एक मानक तय करने का विचार कर रही है, जिसके तहत भूमि में पानी एक निश्चित स्तर तक होने पर ही कनेक्शन दिया जाएगा.

सिंह ने कहा कि किसानों को 6 महीने के भीतर सभी कनेक्शन दे दिए जाएंगे. नए ट्यूबवेल कनेक्शन के लिए कमांड व नॉन कमांड का कोई विषय नहीं होगा और पैडी-नॉन पैडी का भी कोई विषय नहीं रहा है. बिजली मंत्री ने बताया कि हमने पंचकूला और गुरुग्राम दो शहरों को मॉडल के तौर बिना किसी कट के बिजली देने और इन्वेटर मुक्त शहर बनाने का लक्ष्य रखा है. हमारा प्रयास रहेगा कि खराब ट्रांसफार्मर, बिजली की तारें, पेड़ आदि समस्याओ को ठीक रखा जाए.

उन्होंने बताया कि जून-जुलाई के महीने में तेज आंधी और बारिश के कारण खंबे ज्यादा टूटते है, इसलिए अब सभी खंबों पर मार्किंग की जा रही हैं ताकि लोगों को किसी प्रकार की दिक्कत न हो. इन दो शहरों में ये प्रयोग सफल होने पर इसे पूरे हरियाणा में लागू किया जाएगा. रंजीत सिंह ने कहा कि हमारा लक्ष्य पूरे हरियाणा को 24 घंटे बिजली देने का है, इस दिशा में आगे बढ़ते हुए हम करीब 5300 गांवों को 24 घंटे बिजली दे रहे हैं.
हरियाणा औद्योगिक क्षेत्र में बिजली उपलब्ध करवाने में देश के अग्रणी राज्यों में से एक है और हमारी कोशिश है कि जल्द ही हरियाणा के सभी किसानों को उनके ट्यूबवेल के कनेक्शन दे दिए जाएं. उन्होंने कहा कि किसानों द्वारा करीब 50 हजार ट्यूबवेल के कनेंक्शन के लिए आवेदन किए गए थे, जिनमें से हमने करीब 35 हजार कनेंक्शन दे दिए हैं और बाकी भी जल्द दिए जाएंगे. किसानों की एक बड़ी दिक्कत का निवारण करते हुए राज्य सरकार ने ट्यबवेल की मोटर बनाने वाली 7 कंपनियों को स्वीकृति प्रदान कर दी है, जिनसे सीधे किसान अपनी मोटर खरीद कर लगा सकते हैं.

अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज