Assembly Banner 2021

हरियाणाः मनोहर लाल खट्टर सरकार के खिलाफ अविश्वास प्रस्ताव, कांग्रेस ने जारी किया व्हिप

जननायक जनता पार्टी ने अपने विधायकों को सदन में उपस्थित रहकर सरकार का समर्थन करने को कहा है. फाइल फोटो

जननायक जनता पार्टी ने अपने विधायकों को सदन में उपस्थित रहकर सरकार का समर्थन करने को कहा है. फाइल फोटो

कांग्रेस के चीफ व्हिप भारत भूषण बत्रा ने पार्टी विधायकों को व्हिप जारी कर सदन में उपस्थित रहने को कहा है और राज्य सरकार के खिलाफ अविश्वास प्रस्ताव का समर्थन करने को कहा है.

  • Share this:
नई दिल्ली. हरियाणा में विपक्ष के लाए अविश्वास प्रस्ताव पर मनोहर लाल खट्टर सरकार (Manohar Lal Khattar) का समर्थन करने के लिए जननायक जनता पार्टी (Jannayak Janata Party) ने अपने विधायकों को सदन में उपस्थित रहकर सरकार का समर्थन करने को कहा है. पार्टी ने अपने विधायकों से कहा है कि अविश्वास प्रस्ताव के खिलाफ सरकार का समर्थन करें. दूसरी ओर कांग्रेस के चीफ व्हिप भारत भूषण बत्रा (Bharat Bhushan Batra) ने पार्टी विधायक दल को व्हिप जारी कर सदन में उपस्थित रहने को कहा है और राज्य सरकार के खिलाफ अविश्वास प्रस्ताव का समर्थन करने को कहा है.

बता दें कि हरियाणा विधानसभा का बजट सत्र शुक्रवार से शुरू हो रहा है, जिसके हंगामेदार रहने के आसार हैं. कानून-व्यवस्था और केंद्र के नए कृषि कानूनों को लेकर कांग्रेस जहां सत्तारूढ़ भाजपा-जजपा गठबंधन सरकार को घेरने की तैयारी कर रही है. वहीं सरकार संभावित रूप से विवादास्पद ‘धर्म परिवर्तन विरोधी’ कानून लाने के लिए तैयार है. राज्यपाल सत्यदेव नारायण आर्य के संबोधन से सत्र की शुरुआत होगी. खट्टर दस मार्च को बजट पेश करेंगे. वित्त मंत्रालय भी उन्हीं के पास है.

Youtube Video




कांग्रेस लाएगी अविश्वास प्रस्तावः हुड्डा
विपक्ष के नेता भूपेन्द्र सिंह हुड्डा ने घोषणा की है कि सरकार के खिलाफ कांग्रेस अविश्वास प्रस्ताव लाएगी. उन्होंने दावा किया कि भारतीय जनता पार्टी-जननायक जनता पार्टी गठबंधन सरकार सभी मोर्चों पर विफल रही है. लेकिन विपक्षी दल किसानों के मुद्दे पर ध्यान केंद्रित करेगा. उसका दावा है कि अविश्वास प्रस्ताव स्पष्ट कर देगा कि कौन किसानों के साथ है. हजारों किसान नए कृषि कानूनों के विरोध में तीन महीने से अधिक समय से दिल्ली की सीमाओं पर प्रदर्शन कर रहे हैं.

खट्टर सरकार को घेरने की तैयारी
खट्टर ने कहा कि सदन में उनकी सरकार को बहुमत हासिल है और प्रस्तावित अविश्वास प्रस्ताव को उन्होंने विपक्ष द्वारा इसके महत्व का संकेत देने का प्रयास करार दिया.
पिछले वर्ष नकली शराब कांड पर विशेष जांच दल ने अपनी रिपोर्ट सौंप दी है और मुख्यमंत्री ने इस पर मुख्य सचिव की एक सदस्यीय समिति गठित की है, लेकिन कांग्रेस इस कांड को लेकर सरकार को घेरने की तैयारी में है, जिसमें 40 लोगों की जान चली गई थी.

पुलिस महानिदेशक के कार्यकाल पर रस्साकशी
विपक्ष बेरोजगारी, कानून-व्यवस्था और रसोई ईंधन और अन्य आवश्यक सामान के मूल्यों को लेकर सरकार को घेरेगा. पुलिस महानिदेशक मनोज यादव के कार्यकाल को लेकर खट्टर और गृह मंत्री अनिल विज के बीच जारी रस्साकशी ने भी कांग्रेस को सरकार के खिलाफ हथियार दे दिया है. गृह मंत्री चाहते हैं कि यादव हटें, जबकि खट्टर उनके कार्यकाल में विस्तार चाहते हैं.

विज ने कहा है कि सत्र के दौरान बलपूर्वक या धोखाधड़ी से धर्म परिवर्तन के खिलाफ सदन में विधेयक लाया जाएगा. सरकार एक और विधेयक लाएगी, जिसमें निजी एवं सार्वजनिक संपत्ति को हुए नुकसान की भरपाई दंगाइयों और प्रदर्शनकारियों से की जाएगी.

राज्य सरकार 2014-15 से सकल राज्य घरेलू उत्पाद (जीएसडीपी) में ‘‘दोगुनी बढ़ोतरी’’ को भी उजागर करेगी. 2015-15 में ही प्रदेश में कांग्रेस सरकार का कार्यकाल समाप्त हुआ था.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज