हरियाणाः STF ने 2020 में 105 मोस्ट वांटेड अपराधियों को किया गिरफ्तार

हरियाणा के डीजीपी मनोज यादव

हरियाणा के डीजीपी मनोज यादव

डीजीपी हरियाणा मनोज यादव (Manoj Yadav) ने बताया कि एसटीएफ ने सालभर आपराधिक तत्वों और संगठित गिरोह पर बड़े पैमाने पर कार्रवाई की है. गिरफ्तार किए गए 22 इनामी बदमाशों पर पुलिस द्वारा 10,000 रुपये से लेकर 2.5 लाख रुपये तक का इनाम था.

  • Share this:
चंडीगढ़. हरियाणा पुलिस (Haryana Police) द्वारा संगठित अपराध से निपटने के लिए गठित स्पेशल टास्क फोर्स (STF) ने वर्ष 2020 के दौरान 105 मोस्ट वांटेड अपराधियों (Most Wanted Criminals) सहित जघन्य अपराध में शामिल 22 अन्य इनामी बदमाशों को काबू कर उनके अंजाम तक पहुंचाया है. साथ ही भारी मात्रा में अवैध हथियार व नशीला पदार्थ जब्त कर ऐसे अवैध धंधों में लगे कारोबारियों पर भी नकेल कसी है.

पुलिस महानिदेशक (DGP) हरियाणा मनोज यादव ने बताया कि एसटीएफ ने सालभर आपराधिक तत्वों और संगठित गिरोह पर बड़े पैमाने पर कार्रवाई की है. गिरफ्तार किए गए 22 इनामी बदमाशों पर पुलिस द्वारा 10,000 रुपये से लेकर 2.5 लाख रुपये तक का इनाम था. डीजीपी ने अपराध पर लगाम लगाने के लिए एसटीएफ चीफ अमिताभ सिंह ढिल्लों, डीआईजी एसटीएफ सतीश बालन और उनकी पूरी टीम की सराहना की.

नामचीन अपराधी रहे पुलिस के निशाने पर

अपराध जगत के कुछ कुख्यात व नामी अपराधियों का खुलासा करते हुए डीजीपी ने बताया कि साल 2020 में एसटीएफ ने कुख्यात अपराधियों व संगठित गिरोह पर बड़े पैमाने पर कार्रवाई करते हुए राजू बसोदी, राजेश रक्बर, अशोक उर्फ सोकी, इमरान, सोहित रेंचो, मनीष बाबा और विक्की गर्ग जैसे मोस्ट वांटेड और इनामी  अपराधियों को गिरफतार किया। अकेले हरियाणा पुलिस द्वारा इनकी गिरफ्तारी पर 10 लाख रुपये से अधिक का इनाम था. गिरफ्तार अपराधियों में से राजू बसोदी हत्या, हत्या का प्रयास, जबरन वसूली, डकैती आदि के 30 से अधिक मामलों में फरार आरोपी था, जो थाईलैंड से अपने गिरोह का संचालन कर रहा था. उन्होंने बताया कि एसटीएफ के निरंतर भय व दबाव के कारण अधिकांश कुख्यात और खूंखार अपराधी हरियाणा को छोड़कर जा रहे हैं.
नशा सौदागरों पर भी कसी नकेल

डीजीपी ने बताया कि एसटीएफ ने 2020 में ड्रग पेडलर्स के नेटवर्क को तोडते हुए बडी कामयाबी हासिल की है. इस दौरान पुलिस ने भारी मात्रा में मादक पदार्थ जब्त कर 162 अपराधियों को गिरफ्तार किया है. मादक पदार्थ बरामदगी की जानकारी देते हुए डीजीपी ने कहा कि पकडे गए आरोपियों 9 किलो 100 ग्राम हेरोइन, 52 किलो 384 ग्राम अफीम, 60 किलो 200 ग्राम चरस, 4141 किलो से अधिक चूरा पोस्त, 1 किलो 259 ग्राम स्मैक, 2371 किलोग्राम गांजा व गांजा पत्ती, नशीली दवाओं के 5375 इंजेक्शन, 1 लाख 49 हजार से अधिक नशीली गोलियां और 5839 शराब की पेटियां जब्त की गई हैं. इसके अतिरिक्त, एसटीएफ के जवानों ने आम्र्स एक्ट के तहत 77 आरोपियों को गिरफ्तार कर उनके कब्जे से 81 अवैध पिस्तौल, रिवाल्वर और 320 कारतूस बरामद किए हैं.

अंतर्राज्यीय अपराधियों पर भी पैनी नजर



उन्होंने कहा कि एसटीएफ ने कई ऐसे मोस्टवांटेड व अन्य अपराधियों की भी पहचान की है जो हरियाणा सहित दिल्ली, राजस्थान, उत्तर प्रदेश और पंजाब जैसे पड़ोसी राज्यों में अपनी आपराधिक गतिविधियों को फैलाने की कोशिश कर रहे हैं. उन्होंने चेतावनी देते हुए कहा कि अपराधी या तो मुख्यधारा में शामिल हो जाए अन्यथा प्रदेश छोड़ कर चले जाएं.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज