• Home
  • »
  • News
  • »
  • haryana
  • »
  • माता-पिता से दूर खुले माहौल में बीता था सुषमा स्वराज का बचपन

माता-पिता से दूर खुले माहौल में बीता था सुषमा स्वराज का बचपन

फाइल फोटो

फाइल फोटो

सुषमा स्वराज का बचपन अपने माता-पिता के पास हरियाणा के पलवल में नहीं बीता था बल्कि वो अपनी मां के मामा-मामी के पास रहकर पली बढ़ीं और इस तरह उनका बचपन आजाद माहौल में बीता था.

  • Share this:
    सुषमा स्वराज का बचपन माता-पिता से दूर खुले माहौल में बीता था जिसकी वजह से उनके व्यक्तित्व को एक नए अंदाज में उभरने का अवसर मिला. सुषमा ने एक साक्षात्कार में बताया था कि उनका बचपन आम लड़कियों से अलग तरह से गुजरा था. वह हरिणाया के पलवल में अपने माता-पिता के पास नहीं पली बढ़ीं बल्कि उनका पालन पोषण अपनी मां के मामा यानी नाना-नानी के यहां हुआ. वहां उन्हें अपने घर से अधिक आजादी मिली क्योंकि हरियाणा के पलवल का समाज लड़कियों के मामले में अधिक कंजरवेटिव  था. नाना-नानी के यहां सुषमा को बाहर जाने की भी आजादी थी. इसी वजह से स्कूल के दिनों में वे एनसीसी के कैंप में भी जाती थी और डिबेट में भाग लेती थी.

    फाइल फोटो


    सुषमा स्वराज ने साक्षात्कार में कहा था कि उनके नाना काफी प्रगतिशील विचारों के थे. इसलिए उन्हें कभी रोका ही नहीं गया. वह बचपन में लड़कियों वाला खेल नहीं बल्कि भाइयों के साथ लड़कों वाले खेल खेलती थीं. घर से दूर होने के बाद भी सुषमा का बचपन खुशहाल और औरों से अलग रहा था. उन्होंने स्नातक की डिग्री हासिल करने बाद पंजाब विश्वविद्यालय से कानून की डिग्री हासिल की. पढ़ाई के दिनों ही वे अखिल भारतीय विद्यार्थी परिषद से जुड़ गईं.  वहीं से राजनीतिक जीवन की शुरुआत हुई. सुषमा के पिता पहले से ही राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ से जुड़े थे. पिछली सदी के सातवें दशक में जब जयप्रकाश नारायण ने आंदोलन छेड़ा तो सुषमा जेपी आंदोलन से जुड़ गईं. उसके बाद से उनका राजनीतिक सफर आगे बढ़ता गया, फिर पीछे मुड़कर कभी नहीं देखा.

    ये भी पढ़ें- राजनीति में महिलाओं के लिए प्रेरणा स्रोत हैं सुषमा स्वराज

    सुषमा स्वराज: राजी नहीं थे मां-बाप, फिर भी की थी लव मैरिज

    'हरियाणा की बेटी, सुषमा स्वराज का जाना बहुत बड़ी क्षति'

    सेना में जाना चाहती थीं सुषमा स्वराज, ये नियम बना था अड़चन

    पढ़ें Hindi News ऑनलाइन और देखें Live TV News18 हिंदी की वेबसाइट पर. जानिए देश-विदेश और अपने प्रदेश, बॉलीवुड, खेल जगत, बिज़नेस से जुड़ी News in Hindi.

    विज्ञापन
    विज्ञापन

    विज्ञापन

    टॉप स्टोरीज