Haryana Weather Update: भीषण गर्मी से जूझ रहे हरियाणा के लोगों को बारिश से मिली राहत, किसानों के चेहरे खिले

बरसात ने 30 साल पुराना रिकॉर्ड भी तोड़ दिया है.

Monsoon Rain in Haryana: हरियाणा के सभी क्षेत्रों में हवा और गरज चमक के साथ 15 जुलाई तक बारिश होने की संभावना है. इस समय 40 से 50 किलोमीटर प्रति घंटे की रफ्तार से हवा भी चलने का अनुमान लगाया जा रहा है.

  • Share this:
    चंडीगढ़. हरियाणा के कई जिलों में मगंलवार को झमाझम बारिश हुई. भीषण गर्मी से जूझ रहे प्रदेश के लोगों को मंगलवार को हुई बरसात से काफी राहत मिली. बरसात से किसानों (Farmers) के भी चेहरे खिल उठे. करनाल जिले में 190 एमएम बारिश दर्ज की गई है. इसी के साथ बरसात ने 30 साल पुराना रिकॉर्ड भी तोड़ दिया है. वहीं, यमुनानगर में 70 एमएम बारिश हुई. हरियाणा में लंबे समय बाद मॉनसून सक्रिय (Monsoon Active) हुआ.

    पहाड़ों पर तेज बारिश से पथराला और सोम नदी का पानी यमुनानगर के गांवों में घुस गया, जिससे कई गांवों में पानी भर गया. करनाल में तीन घंटे तक हुई बारिश से शहर में जगह-जगह जलभराव हो गया. इससे चार घंटे तक आवागमन बाधित रहा. सैकड़ों घरों और दुकानों में पानी घुसने से भारी नुकसान हुआ है.

    हर साल जुलाई के महीने में झमाझम बरसात
    पिछले 10 वर्षों में बरसात की स्थिति पर गौर किया जाए तो हर साल जुलाई के महीने में झमाझम बरसात हुई है. एक महीने में बरसात का आंकड़ा 554 एमएम तक पहुंच चुका है. हालांकि, इस साल जुलाई में एक दो बार ही बरसात हुई है. अभी कई जिलों में तेज बरसात का इंतजार है.

    बता दें कि इस साल मानसून 12 जुलाई को दिल्ली से पहले राजस्थान के जैसलमेर और गंगानगर के अपने आखिरी पड़ावों पर पहुंचा. आमतौर पर मानसून दिल्ली में आने के लगभग 9 दिन बाद 8 जुलाई को इन दोनों जिलों में पहुंचता है. मानसून के लिए हरियाणा का इंतजार कुछ हिस्सों में बारिश के बाद खत्म हो गया. मौसम अधिकारियों का कहना है कि इसकी शुरुआत निर्धारित समय से दो सप्ताह की देरी से हुई है, जिससे यह 19 वर्षों में सबसे अधिक विलंबित हो गया है.

    पढ़ें Hindi News ऑनलाइन और देखें Live TV News18 हिंदी की वेबसाइट पर. जानिए देश-विदेश और अपने प्रदेश, बॉलीवुड, खेल जगत, बिज़नेस से जुड़ी News in Hindi.