साधु-संतों को ठंड से बचाने का इंतजाम करे सरकार, HC ने दिया आदेश

कुरुक्षेत्र में रहने वाले साधु-संतों को भीषण ठंड से बचाने के लिए रात्रि शेल्टर का इंतजाम करने का हाईकोर्ट ने दिया आदेश. (सांकेतिक तस्वीर)

कुरुक्षेत्र में रहने वाले साधु-संतों को भीषण ठंड से बचाने के लिए पंजाब और हरियाणा हाईकोर्ट (Punjab and Haryana High Court) ने मानवीयता के आधार पर सरकार को सर्दी से बचाव के इंतजाम करने का आदेश दिया है. बेसहारा लोगों की स्थिति को लेकर दायर याचिका पर HC ने दिया निर्देश.

  • Share this:
    चंडीगढ़. हरियाणा में पड़ रही भीषण ठंड के दौरान बेसहारा लोगों को सर्दी से बचाने के लिए पंजाब और हरियाणा हाईकोर्ट (Punjab and Haryana High Court) आगे आया है. हाईकोर्ट ने कुरुक्षेत्र में स्थित ब्रह्म सरोवर और अन्य स्थानों पर रहने वाले साधु-संत, बेघर मजदूरों और भिखारियों को ठंड से बचाने के लिए सरकार को इंतजाम करने को कहा है. अदालत ने हरियाणा सरकार को दिए अपने आदेश में कहा है कि वह इन बेघर और बेसहारा लोगों के रात्रि शेल्टर का इंतजाम करे. कड़ाके की ठंड में किसी तरह जीवन बिता रहे इन लोगों की स्थिति को लेकर दायर याचिका पर हाईकोर्ट ने यह आदेश दिया है.

    मीडिया रिपोर्ट के मुताबिक कुरुक्षेत्र निवासी बुजुर्ग सरोज जैन की याचिका पर हाईकोर्ट ने सुनवाई की. इस दौरान अदालत को याचिकाकर्ता के वकील ने बताया कि कुरुक्षेत्र में स्थित ब्रह्म सरोवर और सन्निहित सरोवर के इलाके में बड़ी संख्या में साधु-संत और बेघर मजदूर रहते हैं. भीषण ठंड के दौरान इन लोगों को कई बार खुले आसमान के नीचे ही रात बितानी पड़ती है. याचिकाकर्ता की ओर से यह भी बताया गया कि कई बार वह इन लोगों को कंबल बांट चुका है, लेकिन खुले आसमान के नीचे सोने के लिए मजबूर होने वाले इन लोगों को ओस से भीगे कंबलों में रात बितानी पड़ती है.



    याचिकाकर्ता ने हाईकोर्ट ने इस बारे में सुप्रीम कोर्ट के एक फैसले का भी हवाला दिया. कोर्ट को बताया कि सर्वोच्च न्यायालय ने अपने एक आदेश में जरूरतमंद लोगों को रात में ठहराने का इंतजाम करने का आदेश दिया है. इसको देखते हुए धार्मिक नगरी कुरुक्षेत्र में भी साधु-संतों, बेघर मजदूरों और भिखारियों के लिए ऐसा ही आदेश दिया जाए. याचिकाकर्ता की दलील सुनने के बाद हाईकोर्ट ने सरकार को बेघर लोगों को ठंड से बचाने का आदेश दिया. हरियाणा सरकार की ओर से मामले में जवाब दिया गया कि सरकार इस दिशा में काम कर रही है.

    पढ़ें Hindi News ऑनलाइन और देखें Live TV News18 हिंदी की वेबसाइट पर. जानिए देश-विदेश और अपने प्रदेश, बॉलीवुड, खेल जगत, बिज़नेस से जुड़ी News in Hindi.