गुरुग्रामः कुछ ही मिनटों में 100 से ज्यादा झुग्गियां राख, फटे कई गैस सिलिंडर, आंखों के सामने जली गृहस्थी

गुरुग्राम में भीषण आग

गुरुग्राम में भीषण आग

Fire in Gurugram: रविवार दोपहर को हुए इस अग्निकांड की भयावहता का अंदाजा इस बात से लगाया जा सकता है, कि झुग्गियों में ऱखे गैस सिलिंडरों में कुछ सेकेंड्स के अंतर से एक के बाद एक धमाके होते रहे, जिनकी गूंज कई किलोमीटर दूर तक सुनाई देती रही.

  • News18Hindi
  • Last Updated: April 12, 2021, 12:26 PM IST
  • Share this:
गुरुग्राम. हरियाणा जिले के नाहरपुर के झुग्गी वाले इलाके में रविवार दोपहर अचानक एक भीषण अग्निकांड हो गया. आग यहां की एक झुग्गी में रखे छोटे सिलिंडर के फटने से लगी. इसके बाद आग ने पास की दूसरी झुग्गियों को भी अपनी चपेट में लेना शुरू कर दिया और उनके भीतर रखे गैस सिलिंडरों में ब्लास्ट होते चले गए. इस अग्निकांड में दर्जनों झुग्गियां राख के ढेर में तब्दील होती गईं. करीब 3 घंटे की मशक्कत के बाद फायर ब्रिगेड की कई गाड़ियों ने आग पर काबू पाया. हादसे में किसी के हताहत होने के समाचार नहीं है, लेकिन इन आशियानों मेरा गरीबों का राशन समेत सबकुछ खाक हो गया और अब उनका रो-रोकर बुरा हाला है.

इस घटना का एक वीडियो भी सामने आया है, जिसमें आग की भयावहता का अनुमान सहज ही लग रहा है. इस घटना में हर झुग्गी में रखे छोटे गैस सिलेंडर ब्लास्ट हुए हैं, जिनकी आवाज वीडियो में सुनी जा सकती है. ऐसे करीब सौ सिलिंडर फटने की खबर है, जिनके धमाकों की गूंज कई किलोमीटर दूर तक सुनाई दी. अग्निशमन विभाग को दोपहर करीब 1 बजे आग लगने की सूचना मिली थी. भीषण आग के कारण सेक्टर-37, मानेसर, होंडा की दमकल गाड़ियां व सेक्टर-29 से भी दमकल की गाड़ियां बुलानी पड़ी. करीब तीन घंटे की मशक्कत के बाद आग पर काबू पा लिया गया, लेकिन आग में झुग्गियों में लाखों रुपए का सामान जल गया.

Youtube Video


बच्चे व महिलाएं रोती बिलखती दिखाई दीं
बताया जा रहा है कि सभी झुग्गियों में घरेलू सिलेंडर व टीवी आदि लगे हुए थे. इसके अलावा बिजली के तार भी लगे हुए थे, जिससे आग बुझाने में काफी मशक्कत करनी पड़ी. करीब 100 से अधिक सिलेंडर भी फटने से दूर तक धमाके सुनाई देते रहे. वहीं झुग्गियों में रहने वाले बच्चे व महिलाएं भी रोती बिलखती दिखाई दी. इस दौरान किसी के हताहत होने की सूचना नहीं मिली है. बता दें कि कोरोना की मुसीबत के चलते गरीबों ने लाकडाउन के डर से घर में राशन भी भर कर रखा था, जो राख हो गया. पीड़ित रो-रोकर कह रहे थे, कि हम तो बर्बाद हो गए, अब कहां रहेंगे, क्या खाएंगे और क्या अपने बच्चों को खिलाएंगे.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज