अपना शहर चुनें

States

हरियाणा मंत्रिमंडल के विस्तार से पहले निर्दलीय विधायकों ने की गुप्त बैठक

हरियाणा मंत्रिमंडल (Haryana cabinet) के विस्तार से पहले निर्दलीय विधायकों  (Independent MLAs) की दिल्ली स्थित हरियाणा भवन में गुप्त बैठक हुई है. इस बैठक में  5 निर्दलीय विधायकों ने हिस्सा लिया.
हरियाणा मंत्रिमंडल (Haryana cabinet) के विस्तार से पहले निर्दलीय विधायकों (Independent MLAs) की दिल्ली स्थित हरियाणा भवन में गुप्त बैठक हुई है. इस बैठक में 5 निर्दलीय विधायकों ने हिस्सा लिया.

हरियाणा मंत्रिमंडल (Haryana cabinet) के विस्तार से पहले निर्दलीय विधायकों (Independent MLAs) की दिल्ली स्थित हरियाणा भवन में गुप्त बैठक हुई है. इस बैठक में 5 निर्दलीय विधायकों ने हिस्सा लिया.

  • Share this:
चंडीगढ़. हरियाणा मंत्रिमंडल (Haryana cabinet) के मंत्रियों के नाम फाइनल करने के लिए मुख्यमंत्री मनोहर लाल खट्टर के साथ उपमुख्यमंत्री दुष्यंत चौटाला की हुई बैठक के बाद प्रदेश के निर्दलीय  विधायकों (Independent MLAs) ने दिल्ली स्थित हरियाणा भवन गुप्त बैठक की. इस बैठक में विधायक नैनपाल रावत, बलराज कुंडू ,रणधीर गोलन, धर्मपाल गोंदर और सोमवीर सांगवान मौजूद थे. हरियाणा भवन के कमरा संख्या 28 में हुई यह बैठक मंत्रिमंडल विस्तार से पहले अहम मानी जा रही है. उल्लेखनीय है कि निर्दलीय विधायकों को मंत्रिमंडल में शामिल करने के मुद्दे पर मंलगवार को ही जेजेपी नेता और उपमुख्यमंत्री दुष्यंत चौटाला (Deputy Chief Minister Dushyant Chautala) ने कहा है कि बीजेपी और जेजेपी दोनों मिलकर नाम तय करेंगी. माना जा रहा है कि दो निर्दलीय विधायकों को मंत्रिमंडल में शामिल किया जा सकता है.

गठबंधन सरकार को संख्याबल के लिए अब नहीं है जरूरत 

यहां यह उल्लेखनीय है कि जेजेपी से गठबंधन के बाद हरियाणा में सरकार को बहुमत साबित करने के लिए निर्दलीय विधायकों के समर्थन की जरूरत नहीं है. संख्याबल के हिसाब से विधानसभा में बीजेपी-जेजेपी गठबंधन को बहुमत हासिल है. इस तरह इन विधायकों के पास सौदेबाजी करने को कुछ नहीं है और जो मिल जाए उसे स्वीकार कर लेने के अलावा अधिक विकल्प नहीं है.



मंत्रिमंडल में स्थान देने की नैतिक जिम्मेदारी बीजेपी की 
यहां यह भी उल्लेखनीय है कि इस गठबंधन से पहले बीजेपी सरकार का गठन इन निर्दलीय विधायकों पर ही निर्भर था. हरियाणा विधानसभा पहुंचे सात निर्दलीय विधायकों में 5 बीजेपी के बागी हैं. प्रदेश में जब बीजेपी की सरकार निर्दलीय विधायकों की सहायता से बनाने की तैयारी चल रही थी तब इन निर्दलीय विधायकों ने बीजेपी के कार्यकारी अध्यक्ष जेपी नड्डा के आवास पर बगैर किसी शर्त के बीजेपी को समर्थन दिया था. इस तरह निर्दलीय विधायकों को मंत्रिमंडल में जगह देने की नैतिक जिम्मेदारी बीजेपी की ही है.

( रिपोर्ट- पंकज कपाही)

ये भी पढ़ें- CM खट्टर और Dy.CM चौटाला ने मंत्रियों के नाम किए फाइनल, घोषणा 48 घंटे में

राजा के ऐशगाह पर सैकड़ों साल बाद भी दूर-दूर से आते हैं लोग जूते मारने
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज