सीएम खट्टर के अधिकारियों को दिए निर्देश, कहा- विधायकों की किसी बात की अनदेखी न करें
Chandigarh-City News in Hindi

सीएम खट्टर के अधिकारियों को दिए निर्देश, कहा- विधायकों की किसी बात की अनदेखी न करें
उन्होंने कहा कि लोगों को मास्क का वितरण होना चाहिए और मास्क नहीं पहनने वालों से वसूले गए जुर्माने का इस्तेमाल नए मास्क बनाने में होना चाहिए. (Photo- Facebook)

विधायकों की इस शिकायत को लेकर विधानसभा अध्यक्ष ज्ञान चंद गुप्ता सीएम मनोहर लाल खट्टर (Manohar Lal Khattar) से मिलने पहुंचे थे. जिसके बाद अधिकारियों को ये निर्देश दिए गए.

  • Share this:
  • fb
  • twitter
  • linkedin
चंडीगढ़ हरियाणा में एक बार फिर से विधायकों (MLAs) और अधिकारियों के बीच तकरार बढ़ने के मामले में मुख्यमंत्री मनोहर लाल खट्टर (Manohar Lal Khattar) ने बयान दिया है. उन्होंने कहा कि अधिकारियों को निर्देश दिए गए है कि वो विधायकों की सुनवाई करें. कोई भी अधिकारी किसी विधायक की अनदेखी न करे. विधायकों ने विधानसभा अध्यक्ष ज्ञान चंद गुप्ता से शिकायत की थी कि अधिकारी उनके फोन नहीं उठाते. यही नहीं विधायकों ने आरोप लगाया था कि अधिकारी उनकी अनदेखी करते हैं और उनकी सुनते नहीं.

विधायकों की इस शिकायत को लेकर विधानसभा अध्यक्ष ज्ञान चंद गुप्ता सीएम मनोहर लाल से मिलने पहुंचे थे. जिसके बाद अधिकारियों को ये निर्देश दिए गए. वहीं इस पर हरियाणा के गृह मंत्री अनिल विज  ने अधिकारियों को नसीहत भी दी थी. उन्होंने कहा कि अगर हरियाणा में नौकरी करनी है तो अधिकारियों को विधायकों की सुननी ही पड़ेगी. विज ने कहा कि अधिकारियों पर सख्ती के और भी बहुत तरीके हैं. अगर मुख्यमंत्री को विधायक बताएंगे तो आवश्यक कार्यवाही होगी.

विधायकों ने की थी शिकायत



दरअसल विधानसभा अध्‍यक्ष ज्ञानचंद गुप्ता से विधायकों ने अधिकारियों के इस रवैये के बारे में शिकायत की थी. ज्ञानचंद गुप्‍ता ने पिछले हफ्ते बृहस्पतिवार को दो अलग सत्रों में 10 जिलों के 40 विधायकों से वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के जरिये विधानसभा कमेटियों के गठन से लेकर मानसून सत्र बुलाए जाने की बाबत चर्चा की थी. पहला सत्र दोपहर 12 बजे अंबाला, भिवानी, चरखीदादरी, फरीदाबाद, फतेहाबाद, गुरुग्राम जिला के 20 विधायकों के साथ हुआ. इसमें विधायकों ने लॉकडाउन के दौरान अधिकारियों द्वारा उनके फोन नहीं उठाने का मुद्दा गंभीरता से रखा.



लिखित में दी शिकायत

विधानसभा अध्यक्ष ने विधायकों से कहा कि वे इस बार में लिखित शिकायत दें. जिसके बाद विधायकों ने उन्हें लिखित शिकाय दी. ज्ञान चंद गुप्ता ने स्पष्ट किया था कि विधायक जनता के प्रतिनिधि हैं और अधिकारी जनता के नौकर. जनहित में जनप्रतिनिधियों के प्रति अधिकारियों की जवाबदेही कानून में भी तय है.

हरियाणा सरकार का यू टर्न, किसानों को राहत, धान उगाने पर पाबंदी हटाई
First published: May 28, 2020, 6:27 PM IST
अगली ख़बर

फोटो

corona virus btn
corona virus btn
Loading