गुरुग्राम: यूनिवर्सिटी के मालिक को मृत बताकर जालसाजों ने 10 करोड़ की बीमा पॉलिसी का कर डाला क्लेम

इस मामले में पीड़ित प्रशांत भल्ला की तरफ से सेक्टर-29 के थाने में एफआईआर दर्ज कराई गई है.

10 crore rupee policy fake claim: जालसाजों ने बीमा क्लेम के आवेदन के लिए फर्जी मृत्य प्रमाण पत्र के साथ श्मशान घाट पर्ची भी लगाई और आई कार्ड इस्तेमाल किया. इतना ही नहीं पत्नी के नाम का फर्जी बैंक खा खुलवा लिया ताकि उन्हें क्लेम सके.

  • Share this:
गुरुग्राम. साइबर सिटी गुरुग्राम में फर्जी बीमा क्लेम (Fake insurance claim) करने और जालसाज़ी करने का मामला सामने आया है. इस बार जलसाज़ों ने निशाना बनाया है एक मशहूर यूनिवर्सिटी के मालिक प्रशांत भल्ला को. जालसाजों ने पहले प्रशांत भल्ला का फर्जी मृत्यु प्रमाण पत्र तैयार किया. उसके बाद उनकी 10 करोड़ की पॉलिसी का क्लेम (10 crore policy claim) कर डाला. इस बात का खुलासा तब हुआ जब बीमा कंपनी की ओर से वेरिफिकेशन के लिए कर्मचारी भल्ला के घर पहुंचे. इस मामले में प्रशांत भल्ला की बीवी दीपिका भल्ला की तरफ से सेक्टर 29 के थाने में एफआईआर दर्ज कराई गई है.

हैरानी की बात तो यह भी है कि जालसाजों ने यूनिवर्सिटी के मालिक के नाम की फ़र्ज़ी श्मशानघाट की पर्ची के आधार पर डेथ सर्टिफिकेट तैयार कर यूनिवर्सिटी के मालिक की बीवी के नाम पर आधारकार्ड की मदद से पालम विहार की एचडीएफसी शाखा में फ़र्ज़ी अकाउंट तक खुलवा करोड़ों की पॉलिसी का क्लेम कर डाला. वहीं इस हाई प्रोफाइल मामले की शिकायत मिलते ही गुरुग्राम पुलिस ने मामला दर्ज कर तफ़्तीश शुरू कर दी है.

पुलिस के रडार पर इन्स्योरेंस कंपनी

एक नामी यूनिवर्सिटी के मालिक का फर्जी डेथ सर्टिफिकेट बना कर इंश्योरेंश क्लेम किए जाने का मामला सामने आने से साइबर सिटी में हड़कंप मच गया. वहीं पुलिस ने भी इस मामले को गंभीता से लेते हुए जांच शुरू कर दी है. गुरुग्राम पुलिस अब यह पता लगाने में जुट गई है की इस जालसाजी में कौन-कौन शामिल है. पुलिस ने ये भी पता लगा रही है कि उन लोगों ने कितने लोगों को निशाना बनाया है, जिससे फर्जी क्लेम लेने वालो का भंडाफोड़ किया जा सके. पुलिस के रडार पर इन्स्योरेंस कंपनी भी है. पुलिस को शक है कि कहीं कंपनी ने डाटा लीक तो नहीं किया.

पढ़ें Hindi News ऑनलाइन और देखें Live TV News18 हिंदी की वेबसाइट पर. जानिए देश-विदेश और अपने प्रदेश, बॉलीवुड, खेल जगत, बिज़नेस से जुड़ी News in Hindi.