Home /News /haryana /

IPS धीरज सेतिया सस्पेंड, गुरुग्राम में करोड़ों रुपये की चोरी मामले की जांच में नहीं कर रहे थे सहयोग

IPS धीरज सेतिया सस्पेंड, गुरुग्राम में करोड़ों रुपये की चोरी मामले की जांच में नहीं कर रहे थे सहयोग

गुरुग्राम में करोड़ों की चोरी के मामले में आईपीएस धीरज सेतिया को सरकार ने सस्पेंड कर दिया है.

गुरुग्राम में करोड़ों की चोरी के मामले में आईपीएस धीरज सेतिया को सरकार ने सस्पेंड कर दिया है.

Theft of crores in Gurugram Update: प्रदेश सरकार को हिला देने वाले करोड़ों की चोरी के मामले में पहला मामला 20 अगस्त को खेड़कीदौला थाने में 50 लाख की चोरी का दर्ज किया गया था. जिसमे गैंगस्टर विकास लगरपुरिया ने अपने गुर्गों के माध्यम से इस करोड़ो की चोरी को अंजाम दिया था. उस वक़्त धीरज सेतिया डीसीपी वेस्ट का चार्ज संभाले हुए थे. STF गुरुग्राम ने अभी तक सनसनीखेज मामले में दिल्ली पुलीस के स्पेशल सेल में तैनात विकास गुलिया, गुरुग्राम के दो नामी डॉक्टरों के साथ अन्य लोगों को गिरफ्तार कर उनके कब्जे से 6 से 7 करोड़ कैश, गोल्ड, यूएस डॉलर बरामद कर चुकी है और मामले की तफ़्तीश में जुटी हुई है.

अधिक पढ़ें ...

चंडीगढ़. हरियाणा सरकार ने 2013 बैच के इंडियन पुलिस सर्विस (IPS) धीरज कुमार सेतिया (Dhiraj Kumar Setiya) को निलंबित (Suspend) कर दिया गया है. धीरज रोहतक के सुनारियां में तृतीय IRB में कमांडेंट के पद पर तैनात थे. निलंबन अवधि के दौरान वह पुलिस मुख्यालय पंचकूला में रहेंगे. खास बात यह है कि IPS धीरज सेतिया का 24 नवंबर को ही यहां पर तबादला हुआ है. इससे पहले वह कुरूक्षेत्र के पुलिस अधीक्षक (SP) भी रहे हैं.

गुरुग्राम में हुई करोड़ों रुपये की चोरी (theft of crores in Gurugram) के मामले में धीरज सेतिया जांच में शामिल नहीं हुए. जिसके चलते उन्हें सस्पेंड कर दिया गया है. निलंबन आदेश शुक्रवार को गृह विभाग के अतिरिक्त मुख्य सचिव राजीव अरोड़ा ने जारी किए. जानकारी के मुताबिक, स्पेशल इन्वेस्टीगेशन टीम (STF) ने नोटिस भेजकर सेतिया को पूछताछ के लिए लगातार बुला रही थी, लेकिन वह नहीं पहुंच रहे थे. सरकार इस मामले में कड़े कदम उठाए और सेतिया के कदम को अनुशासनहीनता मानते हुए कार्रवाई की.

हरियाणा सरकार ने आईपीएस धीरज सेतिया के सस्पेंशन का आदेश निकाल दिया है.

अल्फा कंपनी के ठिकानों पर हुई थी चोरी

दरअसल, गुरुग्राम में कुछ दिन पहले अल्फा कंपनी के ठिकानों पर अगस्त में चोरी हुई थी. इस मामले में कुख्यात गैंगस्टर विकास लगरपुरिया का नाम भी सामने आया था. उस समय चोरी लाखों की बताई गई थी, लेकिन बाद में जांच STF को दी गई. इसमें पता चला कि चोरी लाखों की नहीं, बल्कि करोड़ों की हुई थी. STF की जांच शुरू होने के बाद दिल्ली के दो फाइनेंसरों ने करीब एक करोड़ से अधिक रकम और सोने के साथ सरेंडर कर दिया था. इस मामले में पूछताछ के बाद तीन डाक्टरों के नाम भी आए थे। जो फिलहाल न्यायिक हिरासत में भोंडसी जेल में बंद है.

एसटीएफ कर रही है मामले की जांच

खेड़कीदौला इलाके में करोड़ो की चोरी मामले में प्रदेश सरकार ने IPS अफसर को सस्पेंड कर खलबली मचा दी है. सीएम खट्टर की माने तो IPS धीरज सेतिया के खिलाफ तफ़्तीश चल रही थी और करोड़ो की चोरी में इंवॉलमेंट के चलते धीरज सेतिया को सस्पेंड किया गया है.

दरअसल एसटीएफ की तफ़्तीश में आईपीएस धीरज सेतिया का नाम आते ही हड़कंप मच गया. धीरज सेतिया को एसटीएफ बीते कई दिनों से इन्वेस्टिगेशन में शामिल होने का नोटिस जारी कर रही थी, लेकिन वह इन्वेस्टिगेशन में शामिल नही हो रहे थे. सीएम खट्टर की माने तो एसटीएफ ने करोड़ो की चोरी में 7 करोड़ रुपये तक बरामद किये गए हैं.

Tags: Gurugram crime news, Gurugram news, Gurugram Police

विज्ञापन
विज्ञापन

राशिभविष्य

मेष

वृषभ

मिथुन

कर्क

सिंह

कन्या

तुला

वृश्चिक

धनु

मकर

कुंभ

मीन

प्रश्न पूछ सकते हैं या अपनी कुंडली बनवा सकते हैं ।
और भी पढ़ें
विज्ञापन

टॉप स्टोरीज

अधिक पढ़ें

अगली ख़बर