अपना शहर चुनें

States

भाकियू के प्रधान गुरनाम सिंह चढूनी को संयुक्त किसान मोर्चा ने किया सस्पेंड: सूत्र

गुरनाम सिंह चढूनी पर ये आरोप
गुरनाम सिंह चढूनी पर ये आरोप

Kisan Aandolan: आरोप है कि गुरनाम सिंह चढूनी ने राजनीतिक पार्टियों के साथ दिल्ली में एक सम्मेलन किया था. इस सम्मेलन में बीजेपी को छोड़कर बाकी विपक्षी पार्टियों के नेताओं ने हिस्सा लिया था.

  • News18Hindi
  • Last Updated: January 18, 2021, 11:23 AM IST
  • Share this:
चंडीगढ़. भारतीय किसान यूनियन के प्रधान गुरनाम सिंह चढूनी (Gurnam Singh Chadhuni) को संयुक्त किसान मोर्चा ने निलंबित कर दिया है. सूत्रों की मानें तो संयुक्त किसान मोर्चा की सबसे मुख्य 7 सदस्यीय कमेटी से भी चढूनी को निलंबित किया गया है. उन्हें 19 जनवरी को को केंद्र सरकार से होने वाली बैठक से भी बाहर रखा जाएगा. आरोप है कि गुरनाम सिंह चढूनी ने कल राजनीतिक पार्टियों के साथ दिल्ली में एक सम्मेलन किया था. इस सम्मेलन में बीजेपी को छोड़कर बाकी विपक्षी पार्टियों के नेता ने हिस्सा लिया था. संयुक्त किसान मोर्चा ने इसीलिए उन्हें सस्पेंड किया है.

गुरनाम सिंह चढूनी के खिलाफ आरोपों की जांच के लिए 7 सदस्य समिति बनाई गई है. समिति के सामने चढूनी को अपना पक्ष रखना होगा. जांच पूरी होने तक संयुक्त किसान मोर्चा की आंतरिक बैठकों और केंद्र सरकार के साथ होने वाली बैठक से चढ़ूनी बाहर भी रहेंगे. वहीं चढू़नी ने सभी आरोपों को सिरे से खारिज किया है.

आंदोलन से जुड़े लोग NIA के सामने पेश नहीं होंगे
राष्ट्रीय जांच एजेंसी (NIA) किसान आंदोलन में टेरर फंडिंग की जांच कर रही है. आंदोलन से जुड़े 50 से ज्यादा लोगों को समन भेजे गए हैं. इससे खफा किसान संगठनों ने कहा कि उनसे जुड़ा कोई नेता या कार्यकर्ता NIA के सामने पेश नहीं होगा. बता दें कि 19 जनवरी को केंद्र सरकार औऱ किसान नेताओं के बीच भी बैठक होनी है. किसान नेताओं ने 26 जनवरी को गणतंत्र दिवस पर दिल्ली में ट्रैक्टर रैली निकालने का भी ऐलान किया है.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज