लाइव टीवी

पत्रकार हत्याकांड: बेटी श्रेयसी ने राम रहीम के लिए फांसी की सजा की मांग की
Chandigarh-City News in Hindi

News18 Haryana
Updated: January 17, 2019, 8:24 AM IST
पत्रकार हत्याकांड: बेटी श्रेयसी ने राम रहीम के लिए फांसी की सजा की मांग की
पत्रकार रामचंद्र छत्रपति की बेटी श्रेयसी

श्रेयसी पहली बार मीडिया के सामने आई और डेरा सच्चा सौदा प्रमुख गुरमीत राम रहीम के लिए फांसी की सजा की मांग की.

  • Share this:
पत्रकार रामचंद्र छत्रपति हत्याकांड मामले में आज पंचकूला की स्पेशल सीबीआई कोर्ट में फैसला आने वाला है. इस दौरान पत्रकार रामचंद्र छत्रपति की बेटी श्रेयसी पहली बार मीडिया के सामने आई और डेरा सच्चा सौदा प्रमुख गुरमीत राम रहीम के लिए फांसी की सजा की मांग की. श्रेयसी ने कहा कि उनके परिवार ने एक लंबी कानूनी लड़ाई लड़ी है और उनकी मां ने काफी कुछ झेला है. लेकिन अब जिस तरह से गुरमीत राम रहीम को दोषी करार दिया गया है तो उसके बाद उन्होंने अपनी मां की आंखों में संतुष्टि देखी है. श्रेयसी ने कहा की वो इस फैसले के दौरान कोर्ट में रहकर देखना चाहती हैं कि जब गुरमीत राम रहीम को सजा का ऐलान किया जाएगा तो उसे कैसा लगता है. लेकिन अदालत में सिर्फ उनके भाई अंशुल छत्रपति को ही जाने की अनुमति दी गई है.

श्रेयसी ने कहा कि इस इंसाफ के लिए उनके भाई अंशुल छत्रपति ने भी अपने जीवन का कीमती समय कानूनी लड़ाई में लगा दिया. अब गुरमीत राम रहीम पूरी तरह से बेनकाब हो चुका है. उसके साथ अब ना तो राजनीति से जुड़े लोग हैं और ना ही उसके अपने ही लोग. ऐसे में उन्हें उम्मीद है कि रेपिस्ट और मर्डरर गुरमीत राम रहीम अब अपने किए की सजा पाएगा.

ये भी पढ़ें: राम रहीम के जेल जाने के बाद डेरे की कमान संभाल रही है ये महिला!



श्रेयसी ने कहा कि उनके पिता के लिए पत्रकारिता एक मिशन था और उन्होंने कभी भी गुरमीत राम रहीम के खिलाफ लिखी गई खबरों को लेकर कदम पीछे नहीं लिए. वो हमेशा उनकी मां से कहा करते थे कि ज्यादा से ज्यादा गुरमीत राम रहीम क्या कर लेगा मेरी टांगें ही तुड़वा देगा ना लेकिन मैं सच लिखना कभी नहीं छोड़ूंगा.



बता दें कि गुरमीत राम रहीम साध्वियों के यौन शोषण के मामले में इस वक्त रोहतक की सुनारिया जेल में बंद है. पत्रकार रामचंद्र छत्रपति की हत्या का मामला भी इसी मामले से जुड़ा हुआ था. रामचंद्र छत्रपति अपना अखबार चलाते थे और इसके वह लगातार साध्वियों से जुड़े मामले को उठा रहे थे. इसी के चलते डेरा की तरफ से उन्हें लगातार धमकियां मिल रही थी. 24 अक्टूबर 2002 को गोली मारकर उनकी हत्या कर दी गई.

ये भी पढ़ें- पत्रकार हत्याकांड: रिवॉल्वर के साथ आए थे राम रहीम के गुर्गे, जानिए क्या हुआ था उस रात

ये भी पढ़ें: क्या अब जेल से कभी बाहर नहीं आ पाएगा राम रहीम, जेल ही बन जाएगा उसका नया घर

एक क्लिक और खबरें खुद चलकर आएगी आपके पास, सब्सक्राइब करें न्यूज़18 हिंदी  WhatsApp अपडेट्स

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए चंडीगढ़ से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: January 17, 2019, 8:24 AM IST
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
corona virus btn
corona virus btn
Loading