हरियाणा में कोरोना की फर्जी खबरों से परेशान है खट्टर सरकार, अधिकारियों से कहा- लोगों को फैक्ट बताएं

उन्होंने यह भी आरोप लगाया कि डॉक्टरों को यह बताया गया कि अली हसन परमवीर चक्र विजेता वीर अब्दुल हमीद के पुत्र हैं लेकिन किसी ने तवज्जो नहीं दी. (सांकेतिक फोटो)

उन्होंने यह भी आरोप लगाया कि डॉक्टरों को यह बताया गया कि अली हसन परमवीर चक्र विजेता वीर अब्दुल हमीद के पुत्र हैं लेकिन किसी ने तवज्जो नहीं दी. (सांकेतिक फोटो)

हरियाणा में कोरोना महामारी के बढ़ते संक्रमण के बीच अस्पतालों में स्वास्थ्य सुविधाओं के अभाव, ऑक्सीजन की कमी और वैक्सीनेशन को लेकर फैल रही फर्जी खबरों को रोकने का निर्देश. सीएम के प्रधान सचिव ने वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग कर अधिकारियों से कहा कि लोगों को सही और सटीक सूचना दें.

  • Share this:
चंडीगढ़. हरियाणा में एक तरफ जहां कोरोना का संक्रमण बढ़ता जा रहा है, वहीं दूसरी ओर प्रदेश में महामारी को लेकर फर्जी खबरों के फैलने से राज्य सरकार परेशान है. कोरोना वायरस के संक्रमण को लेकर सोशल मीडिया पर फेक न्यूज को फैलने से रोकने के लिए अब खट्टर सरकार ने अफसरों को विशेष दिशा-निर्देश दिए हैं. मुख्यमंत्री के अतिरिक्त प्रधान सचिव एवं सूचना, जनसंपर्क व भाषा विभाग के महानिदेशक डॉ. अमित अग्रवाल ने कहा कि कोरोना संकटकाल में फर्जी खबरों को फैलने से रोकने के लिए विभागीय अफसरों से कहा गया है कि वे लोगों को सही सूचना दें. मीडिया के माध्यम से राज्य के लोगों को सटीक एवं तथ्यपरक सूचना देकर उनमें सकारात्मक सोच विकसित करें.

डॉ. अमित अग्रवाल ने चंडीगढ़ से वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के जरिए प्रदेश के सभी जिलों के अधिकारियों को दिशा-निर्देश दिया. उन्होंने कहा कि प्रदेश सरकार कोरोना पीड़ितों की मदद के लिए जो कदम उठा रही है, उसके बारे में लोगों को बताएं. उन्होंने कहा कि इस चुनौती के दौर में लोगों के मन के डर को दूर करें, साथ ही लापरवाही बरतने वाले लोगों को सचेत व सजग करने का प्रयास किया जाए. डॉ. अमित अग्रवाल ने कहा कि राज्य सरकार कोविड-19 से निपटने के लिए हरसंभव कदम उठा रही है.

उन्होंने कहा कि सरकार के प्रयासों और इंतजामों की तैयारियों की खबर लोगों तक समय पर पहुंचाना सूचना, जनसंपर्क एवं भाषा विभाग की जिम्मेवारी है. अधिकारियों को समाचार-पत्रों, टीवी चैनलों, कम्यूनिटी व एफएम रेडियो तथा सोशल मीडिया के अलावा होर्डिंग व पोस्टरों के माध्यम से लोगों में कोरोना के प्रति जागरूक करना है. मीडिया के माध्यम से हमें लोगों को समझाना है कि वे मास्क, सैनेटाइजेशन का प्रयोग अवश्य करें, ताकि इस महामारी की चपेट में आने से बच सकें. साथ ही जो लोग कोरोना से ठीक हो रहे हैं उनकी खबरें भी जनता तक अवश्य पहुंचाएं.

सीएम के प्रधान सचिव ने अधिकारियों को निर्देश दिए कि वे वैक्सीन के बारे फैली भ्रांतियों को दूर करने का प्रयास करें, ताकि अधिक से अधिक लोग वैक्सीनेशन करवाएं. उन्होंने कहा कि ऑक्सीजन, बेड व अन्य सुविधाओं की कमियों से संबंधित जो भी मिथ्या प्रचार संज्ञान में आए, संबंधित विभाग से उसकी सटीक जानकारी लेकर उस प्रचार का जवाब दें, ताकि समाज में भ्रम न फैले.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज