नगर निगम चुनाव: हरियाणा में अब जनता सीधे करेगी मेयर का चुनाव, कैबिनेट ने लिया फैसला
Chandigarh-City News in Hindi

नगर निगम चुनाव: हरियाणा में अब जनता सीधे करेगी मेयर का चुनाव, कैबिनेट ने लिया फैसला
हरियाणा कैबिनेट की बैठक में लिए गए अहम फैसले

हरियाणा कैबिनेट (Haryana Cabinet) की बैठक में नगर पालिका अधिनियम की धाराओं में संशोधन के लिए अध्यादेश लाने को मंजूरी. ग्राम पंचायत चुनाव में पहली बार बीसीए ग्रुप को आठ प्रतिशत आरक्षण सरपंच चुनाव (Sarpanch Election) में मिलेगा.

  • News18Hindi
  • Last Updated: August 14, 2020, 11:07 AM IST
  • Share this:
चंडीगढ़. हरियाणा में नगर निगम के मेयर व नगर परिषद और पालिका अध्यक्षों के चुनाव (Election) सीधे ही करवाएं जाएंगे. इससे शहरी निकायों में अब पार्षदों की खरीद-फरोख्‍त समाप्‍त होगी. अब नगर निगम में अब मेयर का चुनाव सीधे जनता करेगी. इसी तरह जनता के नगर परिषद व नगरपालिका के प्रधान या अध्‍यक्ष चुनाव प्रत्यक्ष मतदान के जरिये होग. तमाम अटकलों के बाद गुरुवार को हरियाणा कैबिनेट (Haryana Cabinet) की बैठक में इसे स्वीकृति दे दी गई है, जबकि शहरी स्थानीय निकाय मंत्री अनिल विज ने सीधे चुनाव की बजाए इनके चयन की पहले जैसी व्यवस्था ही रहने की वकालत की थी. इसके सीधे चुनाव के बाद इनके खिलाफ अविश्वास प्रस्ताव लाने का खतरा भी नहीं रहेगा.

मेयर या अध्यक्ष के चुनाव में पार्षदों की कोई भूमिका नहीं रहेगी. इससे अध्यक्ष बनने वालों के लिए पार्षदों की खरीद फरोख्त भी बंद हो जाएगी तथा जनता अपनी पसंद का मेयर या अध्यक्ष चुन सकेगी. इस संदर्भ में हरियाणा नगर पालिका अधिनियम की जिन धाराओं में जो संशोधन की जरूरत है, उसे अध्यादेश लाकर किया जाएगा.

मंत्रीमंडल की बैठक में लिया गया अहम निर्णय



हरियाणा के मुख्यमंत्री मनोहर लाल की अध्यक्षता में हुई मंत्रिमंडल की बैठक में यह अहम निर्णय लिया गया है. 2019 में नगर निगमों के चुनाव डायरेक्ट हुए थे, लेकिन तब कानून में एक संशोधन करना रह गया था. अब तय किया गया है कि पहले से मेयर, अध्यक्ष या पार्षद चुने गए किसी भी व्यक्ति के विरुद्ध अविश्वास प्रस्ताव नहीं लाया जा सकेगा. मुख्यमंत्री मनोहर लाल ने मंत्रिमंडल के इस फैसले की जानकारी दी.
मेट्रो परियोजनाओं को स्वीकृति प्रदान

इसके साथ ही हरियाणा में ओल्ड गुरुग्राम के निवासियों को मेट्रो कनेक्टिविटी प्रदान करने के लिए मंत्रिमंडल की बैठक में 6821.13 करोड़ रुपये की लागत से गुरुग्राम में हुडा सिटी सेंटर से विभिन्न महत्वपूर्ण स्थानों तक मेट्रो रेल कनेक्शन की अंतिम विस्तृत परियोजना रिपोर्ट को स्वीकृति प्रदान की गई.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज

corona virus btn
corona virus btn
Loading