सुर्खियां: दीपेंद्र हुड्डा को रोकने के लिए रोहतक से सहवाग को उतारेगी BJP, कर्मचारियों को झटका

वीरेंद्र सहवाग फाइल फोटो
वीरेंद्र सहवाग फाइल फोटो

सहवाग के नाम पर 27 फरवरी को हिसार में पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष अमित शाह की अध्यक्षता में होने वाली मीटिंग में चर्चा हो सकती है.

  • News18Hindi
  • Last Updated: February 4, 2019, 12:13 PM IST
  • Share this:
जींद उप चुनाव में जीत से उत्साहित भाजपा रोहतक लोकसभा सीट से जीत की हैट्रिक लगा चुके पूर्व सीएम भूपेंद्र सिंह हुड्डा के बेटे कांग्रेस सांसद दीपेंद्र हुड्डा को रोकने के लिए सक्रिय हो गई है. इसके लिए भारतीय क्रिकेट टीम में मुल्तान के सुल्तान के नाम से विख्यात रहे वीरेंद्र सहवाग को टिकट दे सकती है. अमर उजाला ने इस खबर को प्रमुखता से प्रकाशित किया है.

अमर उजाला ने लिखा है कि सहवाग के नाम पर 27 फरवरी को हिसार में पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष अमित शाह की अध्यक्षता में होने वाली मीटिंग में चर्चा हो सकती है. निगम चुनाव के बाद जींद उप चुनाव में पार्टी की जीत से पार्टी का केंद्रीय नेतृत्व प्रदेश सरकार से खुश है. ऐसे में अब हरियाणा की लोकसभा सीटों पर फोकस किया जा रहा है. इसमें सबसे ज्यादा नजर 2014 में मोदी लहर के बावजूद हाथ से निकल गई रोहतक, हिसार व सिरसा सीट पर है.

वहीं दैनिक जागरण ने ‘कर्मचारियों को झटका’ इस शीर्षक से प्रकाशित खबर में लिखा है कि रियाणा के पुराने कच्‍चे सरकारी कर्मचारियों को तगड़ा झटका लगा है. सरकारी विभागों और बोर्ड व निगमों में 20-25 साल से लगे कच्चे कर्मचारियों को पक्का करने की उम्मीदें टूट सी गई है. हरियाणा सरकार ने इन कर्मचारियों को नियमित करने की प्रक्रिया रोक दी है. पंजाब एवं हरियाणा हाई कोर्ट के निर्देश के बाद प्रदेश सरकार ने वर्ष 1997, 1999, 2003 और 2004 की पॉलिसी के तहत कच्चे कर्मचारियों को पक्का करने की यह प्रक्रिया रोकी है.



पत्नी करती थी बेइज्जती, चाकू से 41 वार किए
दैनिक भास्कर ने अपराध की इस खबर को प्रमुखता से प्रकाशित किया है औऱ लिखा है कि गुरुग्राम के सेक्टर-5 थाना क्षेत्र में एक विवाहिता की उसके पति ने क्रूरतापूर्वक हत्या कर दी. महिला के शरीर पर चाकुओं से 41 वार किए गए. वहीं लोहे के पाने से सिर पर इतने वार किए कि उसकी खोपड़ी से दिमाग बाहर आ गया. महिला की पहचान 24 वर्षीय वंशिका उर्फ नेहा के रूप में हुई है, जिसकी शादी वर्ष 2017 में हुई थी.
ये भी पढ़ें- 






अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज