हरियाणा: विधानसभा में बिना कोरोना टेस्ट के विधायकों की 'No Entry', प्रदर्शन पर भी रोक
Chandigarh-City News in Hindi

हरियाणा: विधानसभा में बिना कोरोना टेस्ट के विधायकों की 'No Entry', प्रदर्शन पर भी रोक
26 अगस्त से शुरू होगा सत्र

विधानसभा (Assembly) में आने वाले सभी लोगों को मास्क (Mask) दिए जाएंगे. विधानसभा के एंट्री गेट पर सैनिटाइजर मशीन भी लगाई जाएगी, ताकि सदन में प्रवेश से पहले खुद को सैनिटाइज किया जा सके.

  • Share this:
मनोज कुमार

चंडीगढ़. हरियाणा विधानसभा का 26 अगस्त से शुरू होने वाले मानसून सत्र (Monsoon Session) में विधायकों, मंत्रियों, अधिकारियों और पत्रकारों को सदन में प्रवेश करने से पहले कोविड-19 (Covid-19) की जांच करवानी जरूरी होगी. सोमवार को चंडीगढ़ में हरियाणा विधानसभा में स्पीकर ज्ञान चंद गुप्ता और अधिकारियों की बैठक हुई, जिसमें मानसून सत्र के दौरान सोशल डिस्टेंसिंग और कोरोना से बचने की व्यवस्था करने पर चर्चा हुई.

बैठक के बाद हरियाणा विधानसभा के स्पीकर ज्ञानचंद गुप्ता ने बताया कि मानसून सत्र के दौरान विधानसभा में प्रवेश करने वाले हर शख्स को 3 दिन पहले तक की कोरोना टेस्ट नेगेटिव की रिपोर्ट दिखानी जरूरी होगी. इसमें विधायक, मंत्री, स्टाफ, पुलिस कर्मचारी आदि सभी शामिल होंगे.



विधायकों के बैठने के तरीके में बदलाव
स्पीकर ज्ञान चंद गुप्ता ने बताया कि सभी विधायकों का टेस्ट करवाने के लिए हरियाणा के स्वास्थ्य विभाग की तरफ से सभी सीएमओ को हिदायतें जारी की जाएंगी. उन्होंने बताया कि इस बार विधानसभा का मानसून सत्र कोरोना महामारी के दौरान हो रहा है. इसलिए विधानसभा में विधायकों के बैठने के तरीके में बदलाव किया गया है. इस बार सत्र के दौरान दर्शक दीर्घा नहीं रहेगी.

सभी लोगों को दी जाएगी मास्क और सैनिटाइजर किट 
अधिकारियों को भी सोशल डिस्टेंसिंग की नियमों को ध्यान में रखते हुए जगह आवंटित होगी. गुप्ता ने बताया कि विधानसभा में आने वाले सभी दस्तावेज को भी पूरी तरीके से टाइप नहीं किया जाएगा. आज हुई बैठक में सैनिटाइजर मशीन खरीदने पर भी फैसला हुआ है. इसके अलावा विधानसभा में आने वाले सभी लोगों को मास्क, ग्लब्ज और सैनिटाइजर की एक किट दी जाएगी.

विधानसभा परिसर में प्रदर्शन करने पर रोक
स्पीकर ज्ञान चंद गुप्ता ने बताया कि विधानसभा के मानसून सत्र के लिए खरीदे जाने वाली सभी आइटम्स में एक भी चाइनीज नहीं होगा. भले ही इसके लिए कुछ चाहे ज्यादा भुगतान की करना पड़े. स्पीकर ने बताया कि विधानसभा परिसर में किसी भी तरह के प्रदर्शन पर रोक लगा दी गई है. अगर विपक्षी दल प्रदर्शन करना चाहते हैं तो वह विधानसभा से बाहर प्रदर्शन कर सकते हैं.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज