हरियाणा में अब दूसरे राज्यों के किसान भी बेच सकेंगे अपनी फसल  

सीएम मनोहर लाल खट्टर ने कांग्रेस पर साधा निशाना
सीएम मनोहर लाल खट्टर ने कांग्रेस पर साधा निशाना

मुख्यमंत्री मनोहर लाल खट्टर (Manohar Lal Khattar) ने कहा कि पड़ोसी राज्यों की फसल खऱीदने पर हमें नहीं कोई आपत्ति.

  • Share this:
मनोज कुमार

चंडीगढ़. हरियाणा सरकार ने सोमवार से राज्य से बाहर के किसानों (Farmers) के लिए धान की खरीद हेतु ‘मेरी फसल मेरा ब्यौरा’ पोर्टल पर पंजीकरण खोल दिया है. सरकार द्वारा यह निर्णय राज्य की विभिन्न मंडियों के आढ़तियों और प्रदेश से बाहर के किसानों की मांग के चलते लिया गया है. उन्होंने बताया कि इससे धान खरीद सीजन के दौरान दूसरे राज्यों (Other States) के किसानों को अपनी फसल बेचने में मदद मिलेगी.

खरीद के दौरान लाए जाने वाले जरूरी कागजात के बारे में जानकारी देते हुए उन्होंने बताया कि किसानों को अपने साथ इस आशय के दस्तावेजों की प्रमाणित प्रतियां लानी चाहिए कि उन्होंने मालिक या किराएदार के तौर पर अपने खेतों में धान की फसल बोई है. इससे व्यापारियों द्वारा की जाने वाली मुनाफाखोरी में कमी आएगी. 5 अक्टूबर को हरियाणा की मंडियों में 8,34,721.26 क्विंटल धान पहुंचा जिसमें से 43,794.44 क्विंटल की खरीद की गई. 56,372.23 क्विंटल बाजरा पहुंचा जिसमें से 4309.2 क्विंटल की खरीद की गई.



सीएम ने कही ये बात
हरियाणा के मुख्यमंत्री मनोहर लाल खट्टर ने कहा कि पड़ोसी राज्यों की फसल खऱीदने पर हमें कोई आपत्ति नहीं है. लेकिन फिलहाल पोर्टल पर पंजीकृत किसानों को प्राथमिकता मिलेगी. वहीं कांग्रेस को आड़े हाथों लेते हुए सीएम खट्टर ने कहा कि वह किसानों को भड़काने का काम कर रही है. सीएम ने कहा कांग्रेस का कृषि और किसानों से कोई सरोकार नहीं है.

कृषि कानून किसानों को आर्थिक आजादी दिलाने वाले

सीएम ने कहा कि कृषि कानून किसानों को आर्थिक आजादी दिलाने वाले हैं. यह पूरी तरह से प्रमाणित हो चुका है कि कांग्रेस पार्टी अपने कार्यकाल के दौरान इन कानूनों को लागू करना चाहती थी, लेकिन असफल रही. अब भाजपा ने किसानों को आर्थिक आजादी दिलाने वाले कानून लागू किए तो कांग्रेस इसका विरोध कर रही है. ख्यमंत्री ने कहा कि हरियाणा की सभी मंडियों में पुरानी व्यवस्था जारी रहेगी. आढ़तियों द्वारा कमीशन बढ़ाए जाने के मुद्दे पर बोलते हुए सीएम ने कहा कि राज्य सरकार ने इस बारे में एफसीआई को पत्र लिखा है.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज