ओलंपिक खिलाड़ी पूनम मलिक को मिल गया मिस्‍टर राइट, इंस्‍पेक्‍टर संग की सगाई

हॉकी प्लेयर के मंगेतर बने सुनील भी क्रिकेट के प्लेयर रहे हैं.
हॉकी प्लेयर के मंगेतर बने सुनील भी क्रिकेट के प्लेयर रहे हैं.

हॉकी की स्‍टार प्‍लेयर पूनम मलिक (Poonam Malik) के मंगतेर सुनील ख्यालिया हिसार जिले के गोरखी गांव के निवासी हैं और CISF में इंस्पेक्टर के पद पर तैनात हैं.

  • Share this:
हांसी. ओलंपिक में हिस्सा ले चुकीं देश की चर्चित हॉकी खिलाड़ी पूनम मलिक (Poonam Malik) जल्द ही शादी (Wedding) के बंधन में बंधने जा रही हैं. पूनम मलिक ने इंस्पेक्टर सुनील ख्यालिया (Sunil Khyalia) से सगाई की है. उमरा गांव में स्थित पूनम मलिक के आवास पर दोनों परिवारों ने एक सादे समारोह में सगाई की. पूनम मलिक ने बताया कि यह अरेंज मैरिज है और परिवार के आशीर्वाद से उन्हें मिस्टर राइट मिला है. रियो ओलम्पिक 2016 में दमदार खेल दिखाने वालीं पूनम मलिक हॉकी स्टार हैं. सगाई के बाद पूनम मलिक ने बताया कि शादी के बाद भी उनका पूरा फोकस हॉकी पर रहेगा.

पूनम मलिक के मंगतेर सुनील ख्यालिया हिसार जिले के गोरखी गांव के निवासी हैं और सीआईएसएफ में इंस्पेक्टर के पद पर तैनात हैं. हॉकी प्लेयर के मंगेतर बने सुनील भी क्रिकेट के प्लेयर रहे हैं और राज्य स्तर पर कई प्रतियोगिताओं में हिस्सा ले चुके हैं. पूनम के पिता दलबीर मलिक व माता संतोष देवी ने भी बेटी की सगाई पर खुशी जाहिर की. उन्होंने कहा कि बेटी का सपना है हॉकी में गोल्ड लाना और दिन-रात प्रैक्टिस में लगी रहती है.

कोरोना के कारण घर पर ही प्रैक्टिस
पूनम मलिक ने कहा कि अभी तीन साल तक इंटरनेशनल खेल आयोजित नहीं होंगे. कोरोना के कारण अभी गांव में ही प्रैक्टिस व एक्सरसाइज कर रही हूं. मेरा टारगेट भारतीय महिला टीम का हिस्सा बन देश को ओलम्पिक में गोल्ड मेडल दिलवाना है और इस सपने को पूरा करने के लिए मैं कड़ी मेहनत कर रही हूं.
पूनम की सफलताओं का लंबा सफर


उमरा गांव की मिट्टी में प्रैक्टिस करके ओलम्पिक तक का सफर तय करने वाली पूनम मलिक अपनी मेहनत के दम पर एक मुकाम हासिल कर चुकी हैं. एक बार ओलम्पिक, तीन बार कॉमनवेल्थ, दो बार एशियन गेम्‍स व वर्ल्ड कप में हिस्सा ले चुकी हैं. करीब 200 प्रतियोगिताओं में हिस्सा लेते हुए पूनम मलिक 45 गोल दाग चुकी हैं. इसी साल सीनियर नेशनल चैम्पियनशिप में खेलते हुए पूनम में हरियाणा महिला हॉकी टीम की कप्तानी की थी, जिसमें हरियाणा टीम ने 7 साल बाद स्वर्ण पदक जीता था.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज