होम /न्यूज /हरियाणा /चौटाला बोले, चौधरी देवीलाल भगवान राम, कृष्ण और बुद्ध के बराबर

चौटाला बोले, चौधरी देवीलाल भगवान राम, कृष्ण और बुद्ध के बराबर

प्रदेश के पूर्व मुख्यमंत्री और इंडियन नेशनल लोकदल के प्रमुख ओमप्रकाश चौटाला ने दिवंगत नेता चौधरी देवीलाल की तुलना भगवान राम, कृष्ण, महावीर और बुद्ध से की है। चौटाला ने अपने चुनावी भाषणों में उनकी तुलना देश-विदेश के महान नेताओं से भी की है। इनमें महात्मा गांधी का नाम भी शामिल है। अपनी पार्टी के लिए विधानसभा चुनाव में प्रचार करते हुए उन्होंने कहा कि भूपेंद्र सिंह हुड्डा के नेतृत्व में राज्य काफी पिछड़ गया है।

प्रदेश के पूर्व मुख्यमंत्री और इंडियन नेशनल लोकदल के प्रमुख ओमप्रकाश चौटाला ने दिवंगत नेता चौधरी देवीलाल की तुलना भगवान राम, कृष्ण, महावीर और बुद्ध से की है। चौटाला ने अपने चुनावी भाषणों में उनकी तुलना देश-विदेश के महान नेताओं से भी की है। इनमें महात्मा गांधी का नाम भी शामिल है। अपनी पार्टी के लिए विधानसभा चुनाव में प्रचार करते हुए उन्होंने कहा कि भूपेंद्र सिंह हुड्डा के नेतृत्व में राज्य काफी पिछड़ गया है।

प्रदेश के पूर्व मुख्यमंत्री और इंडियन नेशनल लोकदल के प्रमुख ओमप्रकाश चौटाला ने दिवंगत नेता चौधरी देवीलाल की तुलना भगवान ...अधिक पढ़ें

  • News18
  • Last Updated :

    प्रदेश के पूर्व मुख्यमंत्री और इंडियन नेशनल लोकदल के प्रमुख ओमप्रकाश चौटाला ने दिवंगत नेता चौधरी देवीलाल की तुलना भगवान राम, कृष्ण, महावीर और बुद्ध से की है। चौटाला ने अपने चुनावी भाषणों में उनकी तुलना देश-विदेश के महान नेताओं से भी की है। इनमें महात्मा गांधी का नाम भी शामिल है। अपनी पार्टी के लिए विधानसभा चुनाव में प्रचार करते हुए उन्होंने कहा कि भूपेंद्र सिंह हुड्डा के नेतृत्व में राज्य काफी पिछड़ गया है।

    दैनिक भास्कर में छपी खबर के मुताबिक शिक्षकों की अवैध नियुक्तियों के मामले में दस साल की सजा काट रहे 79 वर्षीय चौटाला फिलहाल स्वास्थ्य कारणों से जमानत पर हैं। वहीं प्रदेश में पिछले दस साल से इनेलो सत्ता से बाहर है।

    चौटाला ने कहा कि मैं साफ कर देना चाहता हूं कि इनेलो सत्ता की भूखी नहीं हैं। हमारी पार्टी का मिशन देवीलाल के सपने को पूरा करना है। वह प्रधानमंत्री भी बन सकते थे। लेकिन, वीपी सिंह के लिए त्याग किया। इसके बाद इतिहास का हवाला देते हुए चौटाला ने कहा कि देवीलाल का त्याग भगवान राम, कृष्ण, महावीर और बुद्ध की तरह है, क्योंकि उन सभी ने भी त्याग किया था। चौटाला ने कहा कि जिसने भी त्याग किया है, उसका नाम सुनहरे अक्षरों में लिखा गया है। उनके निधन के बाद भी लोगों के प्रति उनका प्रेम और आदर बना हुआ है।

    गौरतलब है कि जेबीटी भर्ती घोटाले में सजायाफ्ता चौटाला बीमार होने की वजह से जमानत पर हैं। उनकी जमानत खारिज करने के लिए सीबीआई की अर्जी पर सोमवार को सुनवाई होने वाली है।

    Tags: Om Prakash Chautala

    विज्ञापन

    टॉप स्टोरीज

    अधिक पढ़ें