बरोदा उपचुनाव से पहले बीजेपी को बड़ा झटका, परमिंद्र ढुल ने पार्टी को कहा अलविदा

सोशल मीडिया पर लिखा खुला त्याग पत्र
सोशल मीडिया पर लिखा खुला त्याग पत्र

Baroda by-election: परमिंद्र ढुल ने केंद्र के तीनों कृषि कानूनों को ढुल ने काला कानून बताया.

  • News18Hindi
  • Last Updated: October 20, 2020, 1:42 PM IST
  • Share this:
चंडीगढ़. हरियाणा के बरोदा उपचुनाव (Baroda By Election) से पहले बीजेपी को बड़ा झटका लगा है. बीजेपी नेता परमिंद्र ढुल ने पार्टी को अलविदा कह दिया है. ढुल ने किसानों के तीन कृषि बिलो के खिलाफ इस्तीफा दिया है. केंद्र के तीनों कृषि कानूनों (Laws) को ढुल ने काला कानून बताया और कहा कि सरकार की किसानों को पूंजीपतियों के हाथ मे सौपने की तैयारी है. वहीं  उन्होंने बीजेपी और जेजेपी पर वादा खिलाफी का भी आरोप लगाया. 2020 तक किसानों की आमदनी दोगुनी करने के बीजेपी के वायदे को उन्होंने झूठा बताया.

उन्होंने कहा कि आज दीनबंधु सर छोटू राम की आत्मा भी दुखी होगी क्योंकि आज किसान पुत्र रो रहा है. बीजेपी में घुटन महसूस कर रहा हूं, इसलिए पार्टी छोड़ रहा हूं. उन्होंने सभी पार्टियों में शामिल किसान पुत्रों को किसान के हित में आने का आह्वान किया. उन्होंने कहा कि पार्टियों को छोड़कर आज किसान के साथ खड़े होने का वक्त, अब आगामी लड़ाई किसानों के साथ मिलकर लड़ेंगे.

सोशल मीडिया पर शेयर किया त्यागपत्र

मुख्यमंत्री, हरियाणा प्रदेश को खुला त्यागपत्र:महोदय, आज आपको पुनः सत्ता सम्भाले लगभग एक वर्ष हो चला है। चुनावों के...

Posted by Parminder Singh Dhull on Monday, October 19, 2020

अन्य पार्टी में जाने के सवाल पर कही ये बात



किसी अन्य पार्टी में जाने के सवाल पर उन्होंने कहा कि आज मैं किसान के साथ खड़ा हूं, अभी कही जाने का फैसला नहीं. बीजेपी ने किसानो के मुद्दे पर जुमलों पर बात की है. बीजेपी को चौथा कानून लाना चाहिए था जिसमे MSP का कानून शामिल होना चाहिए.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज