Home /News /haryana /

पराली से प्रदूषण पर पंजाब ने झाड़ा पल्‍ला, कहा स्‍मॉग के लिए दिल्‍ली खुद जिम्‍मेदार

पराली से प्रदूषण पर पंजाब ने झाड़ा पल्‍ला, कहा स्‍मॉग के लिए दिल्‍ली खुद जिम्‍मेदार

प्रदूषण से होने वाली बीमारियां
प्रदूषण का आपके शरीर पर काफी प्रभाव हो सकता है. यह आपके अंदरूनी अंगों को तो प्रभावित करता ही है साथ ही साथ प्रदूषण शरीर के बाह्य यानी बाहरी अंगों पर भी प्रभाव डालता है. जी हां, प्रदूषण के चलते सांस लेने में तकलीफ, आंखों में जलन, खांसी, साइनस, टीबी और गले में में इन्फेक्शन, अस्थमा, फेफड़ों से जुड़े रोग भी प्रदूषण की देन हो सकते हैं.

प्रदूषण से होने वाली बीमारियां प्रदूषण का आपके शरीर पर काफी प्रभाव हो सकता है. यह आपके अंदरूनी अंगों को तो प्रभावित करता ही है साथ ही साथ प्रदूषण शरीर के बाह्य यानी बाहरी अंगों पर भी प्रभाव डालता है. जी हां, प्रदूषण के चलते सांस लेने में तकलीफ, आंखों में जलन, खांसी, साइनस, टीबी और गले में में इन्फेक्शन, अस्थमा, फेफड़ों से जुड़े रोग भी प्रदूषण की देन हो सकते हैं.

मारवाह ने आरोप लगाने वालों को चुनौती देते हुए कहा कि वे वैज्ञानिक रूप से यह साबित करके दिखाएं कि दिल्ली में प्रदूषण के लिए पंजाब में पराली जलाने के मामले जिम्मेदार हैं. पिछले 10 दिनों में एयर क्वालिटी इंडेक्स (AQI) के लेवल पर नजर डाली जाए तो पंजाब में Average AQI 160 है जबकि दिल्ली का Average AQI पिछले 10 दिनों में 350 से भी ज्यादा है.

अधिक पढ़ें ...
    दिल्ली के प्रदूषण के लिए पंजाब को जिम्मेदार ठहराने के मामले पर पंजाब पॉल्यूशन कंट्रोल बोर्ड के चेयरमैन प्रोफेसर एस एस मारवाह ने पल्‍ला झाड़ लिया. उन्‍होंने कहा कि इस मामले पर राजनीति और ब्‍लेम गेम न खेले जाएं. दिल्‍ली में प्रदूषण के लिए राज्‍य खुद जिम्‍मेदार है.

    मारवाह ने आरोप लगाने वालों को चुनौती देते हुए कहा कि वे वैज्ञानिक रूप से यह साबित करके दिखाएं कि दिल्ली में प्रदूषण के लिए पंजाब में पराली जलाने के मामले जिम्मेदार हैं. उन्होंने कहा कि पिछले 10 दिनों से पंजाब में जो हवा चल रही है उसकी स्पीड 2 किलोमीटर प्रति घंटे से ज्यादा नहीं है ऐसे में पंजाब के धुएं का पाकिस्तान या फिर दिल्ली तक जाकर प्रदूषण फैलाना बिल्कुल गलत आरोप है.

    उन्‍होंने कहा कि दिल्ली के प्रदूषण के लिए खुद उनके अपने कारण जिम्मेदार हैं और अक्टूबर के महीने में दिल्ली में जो स्मॉग की चादर फैल जाती है वो मौसम में आई नमी की वजह से होती है जिसकी वजह से पोल्यूटेड पार्टिकल्स ऊपर नहीं जा पाते और नीचे ही हवा में रह जाते हैं. ऐसा इसलिए नहीं है कि पंजाब में पराली जलाई जाए और उसकी वजह से दिल्ली में स्मॉग फैल जाए.

    इसलिए दिल्ली को खुद ही अपने कारणों का पता लगाना होगा कि उनके प्रदूषण के क्या हालात हैं. मारवाह ने अागे कहा कि पिछले 10 दिनों में एयर क्वालिटी इंडेक्स (AQI) के लेवल पर नजर डाली जाए तो पंजाब में औसत एक्‍यूआई 160 है जबकि दिल्ली का औसत एक्‍यूआई पिछले 10 दिनों में 350 से भी ज्यादा है. ऐसे में अगर पराली जलने से कोई नुकसान होता तो वह सबसे पहले पंजाब को ही होता.

    Tags: Air pollution, Air pollution delhi, Delhi, Pollution, Punjab

    विज्ञापन

    विज्ञापन

    टॉप स्टोरीज

    अधिक पढ़ें

    अगली ख़बर