खराब हो रही गुरुग्राम की आबोहवा, आंखों में जलन और सांस लेने की आ रही है शिकायतें

गुरुग्राम में वायु प्रदूषण का स्‍तर बढ़ा हुआ है. (File Photo)
गुरुग्राम में वायु प्रदूषण का स्‍तर बढ़ा हुआ है. (File Photo)

Air Pollution: पिछले दिनों में अभी तक 200 व 230 पीएम 2.5 के करीब दर्ज किया जाता रहा है लेकिन शुक्रवार को एकाएक प्रदूषण बढ़ गया

  • News18Hindi
  • Last Updated: October 23, 2020, 3:03 PM IST
  • Share this:
गुरुग्राम. आंखों में जलन सीने में चुभन ये तूफान से क्यों है. गुरुग्राम (Gurugram) का हर शख्श परेशान सा क्यों है. जी हां ये गीत गुरुग्राम में रहने वालों पर पूरी तरह सटीक बैठ रहा है. इसका कारण है गुरुग्राम शहर की लगातार खराब होती जा रही आबोहवा. प्रदूषण (Pollution) का लेवल लगातार बढ़ता जा रहा है, जिसका असर शहर में रहने वाले लोगों की आंखों पर सबसे ज्यादा पड़ रहा है. इसके अलावा बच्चों और बुजुर्गों को सांस की परेशानी होने लगी है. पिछले 15 दिनों की बात करे तो हॉस्पिटलों में आंखों में जलन व सांस लेने में परेशानी के मामले बड़े है.

बता दें कि गुरुग्राम में वायु प्रदूषण का स्तर लगातार बढ़ता जा रहा है। कई माह के बाद शुक्रवार को वायु प्रदूषण सबसे ज्यादा दर्ज किया गया. 24 मार्च लॉकडाउन के बाद शुक्रवार सबसे ज्यादा प्रदूषित दिन रहा. लॉकडाउन से पहले शहर में वायु प्रदूषण का स्तर ज्यादा दर्ज किया जाता रहा है. शुक्रवार को 276 पीएम 2.5 माइक्रोग्राम प्रति क्यूबिक मीटर दर्ज किया गया.

शुक्रवार को एकाएक बढ़ा प्रदूषण का स्तर



पिछले दिनों में अभी तक 200 व 230 पीएम 2.5 के करीब दर्ज किया जाता रहा है लेकिन शुक्रवार को एकाएक प्रदूषण बढ़ गया. बढ़ते वायु प्रदूषण के कारणों की जानकारी किसी को नहीं है. लेकिन जिस तरह से शहर में हर रोज प्रदूषण  एक दम से बढ़ा रहा है उससे माना जा रहा है कि आने वाले दिनों में प्रदूषण का स्तर सामान्य से ज्यादा रहेगा. वहीं इस पूरे मामले में हरियाणा प्रदूषण नियंत्रण बोर्ड के अधिकारी कुलदीप की मानें तो ईपीसीए के आदेशों का पालन किया जाएगा और अगर इन आदेशों की अवहेलना कोई करेगा तो उस पर उपरोक्त कार्रवाई की जाएगी. प्रदूषण नियंत्रण करने के लिए जिले के 22 विभागों की जिम्मेवारी सुनिसचित की गई है.
ये रहा प्रदूषण का स्तर

शहर के बीच विकास सदन के पास 249 पीएम 2.5, ग्वाल पहाड़ी के पास 239 पीएम 2.5, सेक्टर 51 में 276 पीएम 2.5 व फरीदाबाद -गुरुग्राम रोड स्थित टेरी ग्राम के पास 221 पीएम 2.5 दर्ज किया गया. वहीं शहर के निवासियों की मानें तो प्रदूषण को नियत्रित करने के लिए अधिक से अधिक पेड़ लगाने होंगे, जिससे पर्यावरण शुद्ध हो सके और शहर में हरियाली दिखाई दे.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज