गुरुग्राम में बारिश: पानी-पानी हुआ शहर, निकासी के लिए JCB और वाटर पम्प का लिया जा रहा सहारा

बारिश से पानी-पानी हुआ गुरुग्राम
बारिश से पानी-पानी हुआ गुरुग्राम

नगर निगम की ओर से जलभराव से निपटने के लिए 1600 किलोमीटर बरसाती नालों की सफाई के लिए करीब 35 करोड़ रुपये का बजट तैयार किया था, लेकिन तय समय में इन बरसाती नालों की सफाई नगर निगम नहीं करवा सका.

  • Share this:
गुरुग्राम. बुधवार सुबह हुई बारिश (Rain) के बाद जगह-जगह शहर में जल भराव हो गया. साथ ही नगर निगम के दावे भी पानी पानी हो गए. मानसून (Monsoon) से पहले विभाग लगातार ये दावा कर रहा था कि शहर में जल भराव की कोई समस्या नहीं होगी, लेकिन ज्यादा बारिश नहीं होने के बावजूद भी शहर में जल भराव के हालात बन गए.

पुराना गुरुग्राम हो या नया गुरुग्राम हर जगह पानी ही पानी नज़र आया. हर साल एमसीजी पानी की निकासी के नाम पर करोड़ों का खर्च करने का दावा करता है और कहता है कि ड्रेन सिस्टम को दुरुस्त किया गया है और इस बार पानी नहीं भरेगा. लेकिन प्रशाशन के दावे हर बार दावे ही रह जाते है.

बारिश से इन इलाकों में भरा पानी



बुधवार सुबह हुई बारिश के बाद इफको चौक, सुशांत लोक, साउथ सिटी, माता रोड, सेक्टर 4, सेक्टर 9, सेक्टर 10, सेक्टर 4 हर जगह पानी ही पानी नज़र आया. इतना ही नहीं पटौदी रोड़ और मानेसर में भी पानी का भराव था जिसके चलते आने जाने वाले लोगों को बड़ी दिक्कतों का सामना करना पड़ा. पानी की निकासी के लिए जगह जगह पम्पो का सहारा लिया गया. इफको चौक पर जेसीबी और सेक्टर 10, सेक्टर 9 और सेक्टर 4 में पम्पो के जरिये पानी की निकासी की गई.
निगम की लापरवाही

नगर निगम की ओर से जलभराव से निपटने के लिए 1600 किलोमीटर बरसाती नालों की सफाई के लिए करीब 35 करोड़ रुपये का बजट तैयार किया था, लेकिन तय समय में इन बरसाती नालों की सफाई नगर निगम नहीं करवा सका. इस कारण पुराने गुरुग्राम के साथ नए गुरुग्राम में भी कई जगहों पर बरसाती पानी की निकासी नहीं हो सकी. निगम की लापरवाही का खामियाजा अब लोगों को भुगतना पड़ रहा है.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज