Home /News /haryana /

रेलवे भर्ती बोर्ड की परीक्षा में 1090 छात्रों को मिले 100 फीसदी से ज़्यादा अंक

रेलवे भर्ती बोर्ड की परीक्षा में 1090 छात्रों को मिले 100 फीसदी से ज़्यादा अंक

प्रतीकात्मक तस्वीर

प्रतीकात्मक तस्वीर

रेल मंत्री से लेकर मंत्रायल और RRB परीक्षा में शामिल छात्र सवाल पूछ रहे हैं कि किसी को फूल मार्क्स से ज़्यादा कैसे हासिल हो सकता है. इस परीक्षा में कुल 1090 छात्रों को 100 फ़ीसदी से ज़्यादा अंक हासिल हुए हैं.

    रेलवे भर्ती बोर्ड के लेवल 1 की परीक्षा के रिज़ल्ट सामने आ गए हैं. रिज़ल्ट सार्वजनिक होते ही सोशल मीडिया में इसे लेकर हंगामा मचा हुआ है. रेल मंत्री से लेकर मंत्रायल और RRB परीक्षा में शामिल छात्र सवाल पूछ रहे हैं कि किसी को फूल मार्क्स से ज़्यादा कैसे हासिल हो सकता है. इस परीक्षा में कुल 1090 छात्रों को 100 फ़ीसदी से ज़्यादा अंक हासिल हुए हैं.

    इनमें सबसे बड़ी संख्या चंडीगढ़ के केंद्रों से कंप्यूटर बेस्ट टेस्ट में शामिल हुए छात्रों की है, जहां 240 छात्रों को 100 फ़ीसदी से ज्यादा अंक हासिल हुए हैं. दरअसल जिन छात्रों ने मूल रूप से 60 या इससे ज़्यादा अंक हासिल किए हैं नार्मलाइज़ेशन के बाद उन्हें कुल अंक 100 से ज़्यादा अंक हासिल हुए हैं.

    इस परिणाम के सामने आने के बाद से ही परीक्षा में कई तरह की धांधली के आरोप भी सोशल मीडिया पर लगाए जा रहे हैं. इससे पहले रेलवे भर्ती बोर्ड ने लेवल-1 के 62907 पदों के लिए कंप्यूटर बेस्ट टेस्ट आयोजित किया था. इस परीक्षा के लिए 1 करोड़ 89 लाख आवेदन किए गए थे जिनमें 1 करोड़ 17 लाख परीक्षार्थी CBT में शामिल हुए थे. अब इसके लिए 1 लाख 80 हज़ार कैंडिडेट्स का चयन हुआ है जो फ़िज़िकल एफ़िसिएंसी टेस्ट में शामिल होंगे.

    यह भी पढ़ें- ड्राई फ्रूट बेच रहे कश्मीरी युवकों को भगवाधारी लोगों ने डंडे से पीटा

    माना जा रहा है कि यह प्रक्रिया भी एक महीने में पूरी हो जाएगी और उसके बाद इन पदों पर भर्ती की जाएगी, लेकिन इस प्रक्रिया में सबसे बड़ा हंगामा नॉर्मलाइज़ेशन की प्रक्रिया को लेकर खड़ा हुआ है.

    दरअसल RRB ने 51 दिनों तक 152 शिफ़्ट में कंप्यूटर बेस्ट टेस्ट का आयोजन किया था. ज़ाहिर है इतनी बड़ी संख्या में टेस्ट पेपर को यूनिफॉर्म बनाना आसान नहीं है. किसी शिफ़्ट में परीक्षार्थियों के सामने मुश्किल सवाल होंगे तो किसी शिफ़्ट में आसान. ऐसे में हर किसी के लिए चयन की एक समान प्रक्रिया बनाने के लिए अंकों का नॉर्मलाइज़ेशन किया जाता है.

    यह प्रक्रिया रेलवे में साल 2000 से चल रही है. नार्मलाइज़ेशन का ठीक यही फॉर्मूला एसएससी के एक्ज़ाम में भी अपनाया जाता है. यूनिफॉर्म लेवल तैयार करने के लिए यूपीएससी जहां स्केलिंग की प्रक्रिया अपनाती है वहीं GATE की परीक्षा में परसेंटाइल निकाला जाता है.

    अब समझते हैं कि रेलवे की नॉर्मलाइज़ेशन प्रक्रिया है क्या?
    इसके लिए सभी 151 शिफ़्ट के औसत अंक को देखा जाता है. अब जिस शिफ़्ट का औसत अंक सबसे ज़्यादा होता है उसे बेस मार्क्स माना जाता है. अब बेस मार्क्स वाले शिफ़्ट में कितने छात्र शामिल हुए हैं उनके आधार पर स्टैंडर्ड डेविएशन ऑफ़ बेस निकाला जाता है, जिसे S1- कहा जाता है. इस परीक्षा में यह 16 रहा है.

    अब जिस शिफ्ट का रिज़ल्ट निकालना होता है उसका स्टैंडर्ड डेविएशन औसत हासिल किए गए अंक से निकाला जाता है ज़िसे S2 कहते हैं. अब मान लिया जाए कि इस बार की परीक्षा के किसी शिफ्ट का S2 – 13 है, तो इस शिफ़्ट के लिए स्टैंडर्ड डेविएशन फ़ैक्टर 16/13 यानी 1.3 के क़रीब होगा.

    मान लिया जाए किसी छात्र ने परीक्षा में 80 अंक हासिल किए हैं और उस शिफ्ट का औसत हासिल अंक 16 है, जबकि सभी 151 शिफ़्ट का औसत हासिल अंक 24 है तो कैंडिडेट को 24-16= 8 अंक का ग्रेस दिया जाता है. इस तरह से उसका अंक 80+8= 88 हो गया. अब इस 88 अंक को स्टैंडर्ड डेविएशन फ़ैक्टर यानी 1.3 से गुणा कर देते हैं.

    यानी 88×1.3=114.4, नॉर्मलाइज़ेशन के बाद उस छात्र को कुल 114 अंक हासिल हुए हैं. इस तरह की प्रक्रिया से मुश्किल प्रश्नों वाले शिफ़्ट के छात्रों को बेहतर अंक हासिल कर प्रतिस्पर्धा में बने रहने का अवसर मिल जाता है. यह एक अप्रूव्ड फ़ार्मुला है जिसे तकनीकी कंसल्टेंसी से हासिल किया गया है और इसकी कई स्तरों पर जांच की गई है. उसके बाद ही इसे रेलवे की परीक्षा के लिए अपनाया गया है.

    हालांकि रेलवे ने 14 जनवरी से 20 जनवरी तक छात्रों के आंसर सीट और सही उत्तर को ऑनलाइन आपत्ति दर्ज़ कराने के लिए उपलब्ध कराया था, जिसे ऑब्जेक्शन ट्रैकर का नाम दिया गया था. इस तरह से रेलवे को 1 करोड़ 17 लाख छात्रों से 1 लाख 58 हज़ार शिकायतें मिलीं जिनमें 25000 शिकायतों को सही पाया गया. इनमें ग़लत सवाल या जांच के बाद ग़लत मार्किंग जैसी शिकायतें शामिल थीं. रेलवे ने इन शिकायतों का निपटारा किया उसके बाद ही अंतिम रिज़ल्ट निकाला गया है.

    ये भी पढ़ें- UP की इन 14 लोकसभा सीटों पर कांग्रेस ने फाइनल किए उम्मीदवारों के नाम! जानिए- कौन कहां से?

    शहीद की पत्नी ने मांगे एयरस्ट्राइक के सबूत, कहा- जैसे मेरे पति का शव आया वैसे कुछ तो लाओ

    लोकसभा चुनाव से पहले घर वापसी कर सकते हैं लालू यादव

    एक क्लिक और खबरें खुद चलकर आएंगी आपके पास, सब्सक्राइब करें न्यूज़18 हिंदी  WhatsApp अपडेट्स

    आपके शहर से (लखनऊ)

    Tags: Bihar News, Government job, Government jobs, Indian railway, Job and career, Job insecurity, Jobs in indian railway, Jobs news, RRB jobs, RRB Recruitment, UP news, Up news in hindi, बिहार

    विज्ञापन
    विज्ञापन

    राशिभविष्य

    मेष

    वृषभ

    मिथुन

    कर्क

    सिंह

    कन्या

    तुला

    वृश्चिक

    धनु

    मकर

    कुंभ

    मीन

    प्रश्न पूछ सकते हैं या अपनी कुंडली बनवा सकते हैं ।
    और भी पढ़ें
    विज्ञापन

    टॉप स्टोरीज

    अधिक पढ़ें

    अगली ख़बर