हरियाणा: जमीनों की रजिस्ट्री आज से होगी शुरू, नए सॉफ्टवेयर के तहत होगा काम
Chandigarh-City News in Hindi

हरियाणा: जमीनों की रजिस्ट्री आज से होगी शुरू, नए सॉफ्टवेयर के तहत होगा काम
हरियाणा सरकार इन अध्यादेशों पर मंथन कर रही है

हरियाणा सरकार (Haryana Government) पर विपक्ष ने लगाए थे रजिस्ट्री घोटाले (Registry scam) के आरोप. सरकार ने रजिस्ट्रियों पर कुछ समय के लिए लगा रखी थी रोक.

  • News18Hindi
  • Last Updated: August 17, 2020, 11:26 AM IST
  • Share this:
चंडीगढ़. हरियाणा में आज से ग्रामीण क्षेत्र की जमीनों की रजिस्ट्री शुरू होगी अब नए सॉफ्टवेयर के तहत जमीनों की रजिस्ट्रियां होंगी. अगर किसी व्यक्ति के डॉक्यूमेंट में कमी है तो रजिस्ट्री नहीं होगी. वहीं शहरी क्षेत्रों में रजिस्ट्री (Registry) के लिए ऑनलाइन अपॉइंटमेंट (Online Appointment) की प्रक्रिया आज से शुरू होगी जबकि कुछ दिनों बाद शहरी क्षेत्रों में रजिस्ट्रियां शुरू होगी.

गौरतलब है रजिस्ट्रियों में अनियमिताएं होने पर प्रदेश सरकार की तरफ से कुछ दिनों के लिए रजिस्ट्रियों पर पाबंदी लगा दी गई थी. प्रदेश सरकार पर बड़े रजिस्ट्री घोटाले के आरोप भी विपक्ष ने लगाए थे. सरकार की तरफ से रजिस्ट्रीओं में अनियमितता और भ्रष्टाचार को लेकर कई तहसीलदारों को सस्पेंड किया गया साथ ही कई के खिलाफ मामला भी दर्ज करवाया गया. सरकार की तरफ से कहा गया था कि एक नया सॉफ्टवेयर तैयार किया जाएगा जिसमें गड़बड़ होने की आशंका नहीं रहेगी.

भ्रष्टाचार को देखते हुए ऑनलाइन प्रक्रिया की थी शुरू



बता दें कि हरियाणा सरकार ने हाल ही में रजिस्ट्री में बढ़ते भ्रष्टाचार को देखते हुए ऑनलाइन रजिस्ट्री की प्रक्रिया शुरू की थी. तमाम तहसीलों में इस प्रणाली को लागू भी कर दिया गया था, लेकिन बावजूद इसके भ्रष्टाचार नहीं रुक पाया और अधिकारियों की मिलीभगत से भ्रष्टाचार के नए-नए तरीके निकाल लिए गए.
रजिस्ट्री पर रोक लगाने का किया था फैसला

लगातार शिकायतें हरियाणा सरकार को मिल रही थीं और फिर हरियाणा सरकार ने शिकायतों पर कार्रवाई करते हुए 15 दिन के लिए सभी प्रकार की रजिस्ट्री पर रोक लगाने का फैसला किया है. 15 दिन के अंदर रजिस्ट्री की प्रक्रिया (खासकर ऑनलाइन प्रणाली) में उत्‍पन्‍न खामियों को दूर किया जाएगा. तकनीक के माध्यम से एक सिस्टम सरकार बनाएगी, ताकि 15 दिन के बाद जब रजिस्ट्री शुरू होगी तो उसमें किसी भी प्रकार की भ्रष्टाचार की गुंजाइश न रहे.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज