• Home
  • »
  • News
  • »
  • haryana
  • »
  • #RisingHaryana सलाह लेने की जरूरत पड़ती है तो RSS के पास जाते हैं: खट्टर

#RisingHaryana सलाह लेने की जरूरत पड़ती है तो RSS के पास जाते हैं: खट्टर

फोटो- मुख्यमंत्री मनोहर लाल खट्टटर.

फोटो- मुख्यमंत्री मनोहर लाल खट्टटर.

विपक्ष कहता है कि मुख्यमंत्री को अनुभव नहीं है, तो मैं कहता हूं कि हां, मुझे लूट खसोट का अनुभव नहीं है.

  • News18Hindi
  • Last Updated :
  • Share this:
    हरियाणा में जितनी भी हिंसक घटनाएं हुईं हैं उनके पीछे विपक्षी पार्टियों की एक ही मंशा थी कि किसी भी तरीके से सरकार को गिराया जाए. विपक्ष अपनी भूमिका सही तरह से नहीं निभा पा रहा है. विपक्ष कहता है कि मुख्यमंत्री को अनुभव नहीं है, तो मैं कहता हूं कि हां, मुझे लूट खसोट का अनुभव नहीं है. हमें आरएसएस से परामर्श लेने की जरूरत पड़ती है तो उनके पास जाते हैं. ये कहना है हरियाणा के मुख्यमंत्री मनोहर लाल खट्टर का.

    गुरुवार को वह हरियाणा की राजधानी चंडीगढ़ में आयोजित किए गए राइजिंग हरियाणा कार्यक्रम में बोल रहे थे. कार्यक्रम का आयोजन देश के सबसे बड़े टीवी नेटवर्क समूह- ‘न्यूज-18’ ने किया था. जाट आरक्षण के मुद्दे पर मुख्यमंत्री मनोहर लाल खट्टर ने कहा, “जाट आरक्षण की मांग को स्वीकार कर लिया गया था, बावजूद इसके प्रदेश को जलाया गया.

    हिंसक घटनाओं के दौरान जितने भी लोगों का आर्थिक नुकसान हुआ उसकी हमने 1 महीने में भरपाई की. जाट आंदोलन के मामले में जो दोषी ठहराए जाएंगे, वो गिरफ्तार जरूर होंगे. जाट आरक्षण के लिए पिछली सरकारें जिम्मेदार हैं.”

    ये भी पढ़ें- #RisingHaryana भाजपा ने प्रदेश का माहौल बिगाड़ने की पूरी कोशिश की-अभय चौटाला

    विपक्ष पर वार करते हुए उन्होंने कहा कि मुझे जनता की सेवा करने का 40 साल का अनुभव है. उन्होंने कांग्रेस पर टिप्पणी करते हुए कहा कांग्रेस ने वंशवाद की राजनीति की है. हमने हमेशा कहा कि लोकतंत्र में वंशवाद नहीं चलना चाहिए. सिर्फ बीजेपी ही ऐसी पार्टी है जिसमें वंशवाद नहीं है. विपक्ष बेवजह के मुद्दों पर हंगामा करता है. उन्होंने कहा कांग्रेस के समय राज्य से उद्योग भागने लगे थे. हमारी सरकार में राज्य के सवा लाख लोगों को प्राइवेट रोजगार मिला है.

    ये भी पढ़ें- #RisingHaryana: हरियाणा पिछड़ रहा है, सरकार के पास विज़न नहीं है- हुड्डा

    संत रामपाल के मामले पर बोलते हुए उन्होंने कहा रामपाल के डेरे के साथ पिछली सरकार के पारिवारिक संबंध थे. मेरी सादगी को दिखावा कहा जाता है. ब्यूरोक्रेसी के साथ उठे सवालों के बारे में उन्होंने कहा मेरा काम अफसरों को धमकाना नहीं बल्कि उनसे काम करवाना है. ब्यूरोक्रेसी और सरकार को मिल कर काम करना चाहिए.

    ये भी पढ़ें- #RisingHaryana भाजपा ने आम आदमी की जेब का खून निचोड़ लिया- पूर्व वित्त मंत्री

    खट्टर ने कहा कि पिछली सरकार के समय हरियाणा के अंदर भ्रष्टाचार 91 फीसदी था और आज 19 फीसदी हो गया है. हरियाणा की पंचायतें पढ़ी-लिखी होने के कारण गांव में अच्छे तरीके से काम हो रहा है. सफाई के मामले में हरियाणा अव्वल है. लोकसभा और विधानसभा चुनाव एक साथ कराने के मुद्दे पर मुख्यमंत्री मनोहर लाल खट्टर ने कहा, “अगर चुनाव कमीशन या केंद्र सरकार हरियाणा में एक साथ चुनाव करवाना चाहते हैं तो हम इसके लिए तैयार हैं. लोकसभा और विधानसभा के चुनाव एक साथ करवाने का लाभ ज्यादा है.”

    आरक्षण के मुद्दे पर खट्टर ने कहा, “आरक्षण का मुद्दा राजनितिक मुद्दा बन चुका है. लेकिन मेरा मानना है कि आरक्षण गरीब को मिलना चाहिए.”

    पढ़ें Hindi News ऑनलाइन और देखें Live TV News18 हिंदी की वेबसाइट पर. जानिए देश-विदेश और अपने प्रदेश, बॉलीवुड, खेल जगत, बिज़नेस से जुड़ी News in Hindi.

    विज्ञापन
    विज्ञापन

    विज्ञापन

    टॉप स्टोरीज