हरियाणा: रोडवेज के घाटे की भरपाई के लिए सरकार से मांगा 850 करोड़ रुपए का पैकेज
Chandigarh-City News in Hindi

हरियाणा: रोडवेज के घाटे की भरपाई के लिए सरकार से मांगा 850 करोड़ रुपए का पैकेज
रोडवेज यूनियन ने सरकार से की ये मांग

हरियाणा रोड़वेज वर्कर्स यूनियन (Haryana Roadways Workers Union) ने महिलाओं की फ्री यात्रा सुविधा वापस लेने के परिवहन मंत्री के बयान पर भी तीखी प्रतिक्रिया व्यक्त की. यूनियन ने कहा कि परिवहन मंत्री का ये फैसला भाजपा-जजपा सरकार का महिला विरोधी होने का प्रमाण है.

  • Share this:
चंडीगढ़. हरियाणा रोड़वेज वर्कर्स यूनियन ने जोर देकर कहा कोरोना महामारी के दौरान बसें खड़ी रहने से, डीजल के दामों में भारी बढ़ौतरी होने से और फ्री व रियायती दरों पर जनता को मिल रही सुविधा से विभाग को हुए घाटे की भरपाई के लिए सरकार (Government) तुरन्त विभाग को 850 करोड़ रुपए का पैकेज दें. ताकि आम जनता व छात्र-छात्राओं को बेहतर व सुरक्षित परिवहन सेवा मिलती रहे. उन्होंने परिवहन मंत्री (Transport Minister) के साथ 6 जनवरी व 4 जून को हुई बातचीत में कर्मचारियों की मानी गई मांगों को लागू करने की मांग की.

कर्मचारी नेताओं ने बताया उच्च अधिकारियों द्वारा सहमत मांगों को जल्दी ही लागू नहीं किया गया तो हरियाणा रोड़वेज कर्मचारी तालमेल कमेटी के आह्वान पर 4 अगस्त को सभी डिपूओं में प्रदर्शन किया जाएगा. उन्होंने कहा 7,11,18 व 25 अगस्त को डिपूओं में धरने दिये जाएंगे.

हरियाणा रोड़वेज वर्कर्स यूनियन ने महिलाओं की फ्री यात्रा सुविधा वापस लेने के परिवहन मंत्री के बयान पर भी तीखी प्रतिक्रिया व्यक्त की. यूनियन ने कहा कि परिवहन मंत्री का ये फैसला भाजपा-जजपा सरकार का महिला विरोधी होने का प्रमाण है. कर्मचारी नेताओं ने कहा सरकार कोरोना महामारी की आड़ लेकर लगातार तुगलकी फरमान जारी करके कर्मचारियों व जनता विरोधी फैसले ले रही हैं.



सुविधा छीनकर आर्थिक हमले कर रही सरकार
उन्होंने कहा सरकार के मंत्री, सांसद व विधायक कोरोना महामारी के दौरान भी अपनी लग्जरी सुविधाओं को बढ़ाने में लगे हुए हैं, जबकि कोरोना महामारी का बहाना बनाकर कभी कर्मचारियों के महंगाई भत्ते व एलटीसी पर रोक लगा कर और अन्य कटौती करके पहले से मिल रही सुविधा छिनकर आर्थिक हमले कर रहीं हैं.

सरकार पर लगाए गंभीर आरोप

सरकार रोड़वेज सहित सरकारी विभागों का निजीकरण करके व भर्ती पर रोक लगा कर जनता को मिल रही बेहतर व सुरक्षित सेवाएं  छीनने के साथ स्थाई रोजगार समाप्त करने पर तुली हुई है. सरकार ने कोरोना की आड़ में पैट्रोल-डीजल के दामों में भारी बढ़ौतरी करके महंगाई बढ़ा कर जनता का जीना दूभर कर दिया है.

रक्षाबंधन पर महिलाओं को मिलती रहे फ्री सेवा

उन्होंने कहा अब इसी कड़ी मे एक और झटका देकर रक्षाबंधन के त्यौहार पर महिलाओं की फ्री यात्रा सुविधा वापस लेकर सरकार ने महिला विरोधी होने का सबूत पेश किया है. कर्मचारी नेताओं ने सरकार से पुरजोर मांग की 3 अगस्त को विभाग की सभी बसें चलाकर सोशल डिसटेंस की पालना करते हुए रक्षाबंधन के मौके पर महिलाओं को मिल रही फ्री यात्रा सुविधा जारी रखें. इस दौरान कर्मचारियों को पीपीई किट सहित सुरक्षा के लिए सभी उपकरण उपलब्ध करवाए जाएं.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज

corona virus btn
corona virus btn
Loading