SHO की गाड़ी ने बाइक को मारी टक्कर, गुस्साए ड्राइवर ने घायल युवक की कर दी पिटाई, मौत
Chandigarh-City News in Hindi

SHO की गाड़ी ने बाइक को मारी टक्कर, गुस्साए ड्राइवर ने घायल युवक की कर दी पिटाई, मौत
एसएचओ के ड्राइवर ने की युवक की पिटाई

हादसा 3 जून का है जब मोहाली के इंडस्ट्रियल ऐरिया फेज-8बी के पास घर लौट रहे 18 वर्षीय युवक को एसएचओ बलौंगी के ड्राइवर ने अपनी तेज रफ्तार बलैरो गाड़ी से टक्कर मार दी. इस हादसे में चप्पड़चिड़ी निवासी सुखबीर सिंह घायल हो गया.

  • Share this:
मोहली. जिले के थाना बलौंगी  के ड्राइवर की तेज रफ्तार गाड़ी की चपेट में आकर 18 वर्षीय युवक की मौत (Death) हो गई. युवक के पिता का आरोप सरकारी गाड़ी का नुकसान देखकर ड्राइवर ने सडक़ पर घायल हुए मेरे बेटे को लातों से पीटा. मृतक युवक पिता का इकलौता सहारा था. चार साल पहले मां औऱ छोटे भाई की भी सडक़ हादसे (Road Accident) में मौत हुई थी. अंतिम विदाई पर पिता बोला मुझे तो सहारा देने के लिए अपनों का कांधा तक नहीं रहा.

बता दें कि हादसा 3 जून का है जब मोहाली के इंडस्ट्रियल ऐरिया फेज-8बी  के पास घर लौट रहे 18 वर्षीय युवक को एसएचओ बलौंगी के ड्राइवर ने अपनी तेज रफ्तार बलैरो गाड़ी से टक्कर मार दी. इस हादसे में चप्पड़चिड़ी निवासी सुखबीर सिंह घायल हो गया. सुखबीर ने पिता सुखविंदर सिंह ने आरोप लगाया कि बेटे को टक्कर से घायल करने के बाद एसएचओ बलौंगी के गुस्साए ड्राइवर अमरजीत सिंह ने वर्दी का रौब दिखाते हुए उल्टा उसके घायल बेटे की गलती निकालते हुए उस समय उसके सिर, छाती व मुंह पर लातें मारी. जब उसका बेटा लहूलुहान हालत में सडक़ पर तड़प रहा था.

पीजीआई में इलाज के दौरान मौत



यह दर्दनाक मंजर सुखबीर के  पिता ने अपनी आंखों से देखा जिन्होंने मौके पर पहुंची पीसीआर की मदद से अपने बेटे को फेज-6 सिविल अस्प्ताल में भर्ती करवाया.  जहां डॉक्टरों ने बताया कि उसकी जांघ में मल्टीपल फ्रैक्चर है जिस कारण वह अपने बेटे के रोपड़ के सुरजीत अस्पताल ले गए. 7 जून को उसके बेटे की अचानक छाती में तेज दर्द उठा तो डॉक्टरों ने उसे पीजीआई चंडीगढ़ रेफर कर दिया जहां पहुंचकर उसकी मौत हो गई.
एसएचओ की सरकारी गाड़ी ने मारी टक्कर

पिता सुखविंदर सिंह ने बताया कि वह घोड़ा-रेहड़ा चलाता है. उसका बेटा सुखबीर क्वॉरक सिटी लाइटों पर उसे घोड़ा रेहड़ा देकर अपने सप्लेंडर मोटरसाइकिल पर घर के लिए निकला. वह भी अपने रेहड़ा लेकर सुखबीर के पीछे-पीछे था. दोनों मकान नंबर–43 इंदिरा कॉलोनी चप्पड़चिड़ी जा रहे थे. जब सुखबीर हिंदुस्तान टाइम के पास पहुंचा तो बलौंगी थाने के एसएचओ का ड्राइवर अमरजीत सिंह सामने से तेज रफ्तार बलैरो गाड़ी लेकर आया उसने सुखबीर के मोटरसाइकिल को टक्कर मारी.

घायल बाइक सवार को पीटा

इस हादसे में सरकारी गाड़ी का बोनट व लाइटें टूट गई. सुखविंदर सिंह का आरोप था कि ड्राइवर अमरजीत को इस बात का दुख नहीं था उसकी गलती से नौजवान घायल हो गया और मदद करने की बजाय वह सरकारी गाड़ी का नुकसान देखकर भडक़ गया और उसने गाड़ी से उतरकर उसके घायल बेटे को लातें मारी. जब ड्राइवर अमरजीत ने सुखबीर की जांघ से खून बहता देखा तो वह फरार हो गया.

आरोपी ड्राइवर गिरफ्त से बाहर

वहीं थाना प्रभारी मनफूल सिंह ने बताया कि मुलाजिम ड्राइवर अमरजीत के खिलाफ आईपीसी की धारा 279, 338 व 304ए के तहत मामला दर्ज कर लिया गया है. हालांकि घायल को ड्राइवर अमरजीत द्वारा पीटने जैसी कोई बात सामने नहीं आई है. उनके मुताबिक कांस्टेबल को जल्द ही गिरफ्तार कर लिया जाएगा और सरकारी गाड़ी भी कब्जे में ले ली गई है.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज

corona virus btn
corona virus btn
Loading