सजधज कर दूल्हे का इंतजार करती रही दुल्हन, नहीं आई बारात तो पहुंची थाने

बिना शादी किए भागा दूल्हा. (प्रतीकात्मक फोटो)

पांच साल से दोनों साथ रह रहे थे. कई बार युवती ने वरिंदर से घरवालों से बात कर धूमधाम से शादी (Marriage) कर घर ले जाने की बात कही, लेकिन हर बार वो टालता रहा.

  • Share this:
    चंडीगढ़. पंजाब के होशियारपुर जिले में एक दुल्हन (Bride) सजधज कर दूल्हे का इंतजार करती रही, लेकिन दूल्हा बारात लेकर नहीं पहुंचा. दुल्हन मंडप की बजाय पुलिस स्टेशन (Police Station) पहुंच गई. दरअसल, दूल्हा बारात लेकर नहीं पहुंचा तो दुल्‍हन को थाने आना पड़ा. पीड़िता ने बताया कि उसके भाई के दोस्त वरिंदर सिंह चीमा ने शादी का वादा किया था. वरिंदर टैक्सी चलाता है और वो अपने घरवालों से अलग रहता था.

    वरिंदर ने कहा कि वो घरवालों की रजामंदी से शादी करेगा और कुछ दिनों में घरवालों को मना लेगा. पीड़िता ने बताया की उसके मां-बाप, भाई और भाभी की मौत के बाद वो बेसहारा है. इसके बाद पीड़िता के परिवार ने बेटी को चुन्नी चढ़ाकर वरिंदर के साथ विदा कर दिया. पांच साल से दोनों साथ रह रहे थे. कई बार पीड़िता ने वरिंदर से घरवालों से बात कर धूमधाम से शादी कर घर ले जाने की बात कही, लेकिन हर बार वो टालता रहा.

    वादे के मुताबिक शादी करने नहीं पहुंचा दूल्हा
    9 मार्च को आरोपी दूल्हा टैक्सी लेकर निकला. उसके बाद घर नहीं लौटा तो फोन पर अमरजीत से कहा कि वो उसके साथ रहना नहीं चाहता. मामला एसएसपी और वुमन सेल तक पहुंच गया. इसके  बाद 21 जून का दिन शादी के लिए तय हुआ, लेकिन अपने वादे के मुताबिक वरिंदर बारात लेकर नहीं आया.

    पुलिस मामले की जांच में जुटी 
    यह कोई पहला मामला नहीं है कि लाल चुड़ा पहने किसी लकड़ी के साथ ऐसा हुआ है. इससे पहले भी बहुत सी लड़कियों को मिले धोखे से मायूस होना पड़ा है. पुलिस शिकायत मिलने के बाद कार्रवाई की बात कह रही है. शादी का झांसा देकर यौन शोषण करने के इस मामले में पुलिस अपनी कार्रवाई कर रही है. पीड़िता और उसके परिजन इंसाफ मांग रहे हैं.