Haryana Weather Update: पश्चिमी विक्षोभ का आज दिख सकता है असर, 48 घंटों में आसमान में छा सकते हैं बादल

मौसम विभाग ने 4-5 दिनों तक सर्दी की रातों का तापमान गर्म रहने के आसार जताए हैं. (फाइल फोटो)

हरियाणा में मौमस: बदलते मौसम (Weather) में समय पर लगाई प्याज की फसल (Onion Crop) में थ्रिप्स के आक्रमण की आशंका जताई गई है.

  • Share this:
    चंडीगढ़. मौसम विभाग (Weather Department) के अनुसार 22 फरवरी को पश्चिमी-विक्षोभ (Western Disturbance) के आंशिक प्रभाव के चलते बादल छा सकते हैं और तेज हवाएं चल सकती हैं. इसके कारण सुबह और रात के तापमान में हल्की गिरावट की संभावना है. इसके बाद दिन के तापमान में फिर से बढ़ोतरी की संभावना है. रविवार को सुबह से ही मौसम साफ रहा. इसका असर यह हुआ कि जल्द ही तेज धूप निकल आई. इस कारण से दिन के समय गर्मी का अहसास होने लगा.

    हरियाणा के हिसार जिले में रविवार सुबह 8.0 डिग्री सेल्सियस तापमान दर्ज किया गया. सुबह के तापमान में हल्की गिरावट दर्ज की जा रही है. रविवार सुबह धुंध के कारण 30 मीटर दृश्यता रही. हालांकि पिछले दिनों से कुछ परिवर्तन जरूर देखने को मिला है. धुंध बनने का प्रमुख कारण पहाड़ों की तरफ से आने वाली उत्तर पश्चिमी हवा हैं.

    आगामी दिनों में धुंध फिर से देखने को मिल सकती है. मौसम विभाग अनुसार उत्तर पश्चिमी हवाएं चलने से रात्रि तापमन में हल्की गिरावट भी हो सकती है. 22 फरवरी को पश्चिमी विक्षोभ के आंशिक प्रभाव के कारण आंशिक बादलवाई, बीच-बीच में हवा चलने तथा दिन के तापमान में हल्की कमी रहने की संभावना है.

    किसान इस बात का रखें ख्याल
    किसानों को सलाह देते हुए कृषि विभाग ने कहा है कि मौसम खुश्क रहने और दिन के तापमान बढ़ने की संभावना को देखते हुए फसलों, सब्जियों व फलदार पौधों में आवश्यकतानुसार हल्की सिंचाई करें. अनुकूल मौसम बने रहने की संभावना को ध्यान में रखते हुए गेहूं, चने व सरसों की फसलों व सब्जियों में कीटों व रोगों की निगरानी करते रहें. गेहूं की फसल में पत्तों के ऊपरी हिस्से पीले और कुछ जले हुए दिखाई देने लगे तो यह पोटेशियम की कमी के लक्षण हो सकते हैं. इस के लिए एक से डेढ़ किलोग्राम म्यूरेट ऑफ पोटास को 100-125 लीटर पानी में मिलाकर प्रति एकड़ गेहूं की फसल में स्प्रे करें.