Haryana News: 18 दिन में MSP पर 44.96 लाख टन गेहूं की खरीद, किसानों को 1214 करोड़ का भुगतान

एक अप्रैल से गेहूं खरीद शुरू होने के बाद सरकार ने 3 दिन गेहूं खरीद बंद कर चुकी है.

एक अप्रैल से गेहूं खरीद शुरू होने के बाद सरकार ने 3 दिन गेहूं खरीद बंद कर चुकी है.

Haryana News: मंडियों में किसी प्रकार की दिक्कत न आए, इसके लिए सरकार ने मंडियों में निरीक्षण के लिए सीनियर अधिकारियों की ड्यूटी भी लगाई है.

  • Share this:
चंडीगढ़. हरियाणा में 1 अप्रैल 2021 से 396 मंडियों और खरीद केन्द्रों पर आरंभ रबी खरीद सीजऩ के दौरान 18 अप्रैल तक कुल 50.71 लाख टन गेहूं की आमद मंडियों में हो चुकी है. इसमें से कुल 44.96 लाख टन गेहूं की खरीद सरकारी एजेंसियों द्वारा न्यूनतम समर्थन मूल्य पर की जा चुकी है. अब तक 1,62,918 किसानों के 5,00,236 जे-फॉर्म बनाए जा चुके हैं, जिसमें से 17 अप्रैल 2021 तक 1214.94 करोड़ रुपये की अदायगी सीधे किसानों (Farmers) के खातों में की जा चुकी है. साथ ही हिदायतें जारी की गई हैं कि मंडियों में खरीदे गए गेहूं का उठान दैनिक आधार पर सुनिश्चित किया जाए, ताकि मंडियों में गेहूँ जमा न हो और किसानों को अपनी उपज बेचने में कोई कठिनाई न आए.

इसके अतिरिक्त मंडियों के निरीक्षण के लिए सरकार द्वारा वरिष्ठ अधिकारियों की ड्यूटी लगाई है, ताकि खरीद कार्य में किसी प्रकार की बाधा न हो. इससे पहले हरियाणा सरकार की तरफ से 16 अप्रैल को किसानों से आग्रह किया गया था कि किसान शनिवार (17 अप्रैल, 2021) और रविवार (18 अप्रैल, 2021) को मंडियों में गेहूं लेकर न आएं. इन दोनों दिनों में गेहूं की खरीद नहीं करने का निर्णय लिया गया था.

दरसअल, प्रदेश की मंडियों में बहुत ज्यादा मात्रा में गेहूं की आवक हो रही थी, जिसका उठान नहीं हो पा रहा था. इसीलिए सरकार ने किसानों से सहयोग करने की अपील की थी, ताकि इन दो दिनों में मंडियों से उठान का कार्य तेजी से किया जा सके. इसके बाद 19 अप्रैल से गेहूं की खरीद प्रक्रिया सुचारू रूप से पूर्व की भांति जारी रहेगी.

दूसरी तरफ हरियाणा प्रदेश व्यापार मंडल के प्रांतीय अध्यक्ष बजरंग गर्ग ने कहा कि सरकार को गेहूं खरीद बंद करने की बजाए, मंडियों से गेहूं उठान के पुख्ता प्रबंध करने चाहिए थे. एक अप्रैल से गेहूं खरीद शुरू होने के बाद सरकार ने 3 दिन गेहूं खरीद बंद कर चुकी है. गेहूं की नमी में जो छूट 14 प्रतिशत कर रखी थी, उसे घटाकर 12 प्रतिशत करके किसानों के साथ बड़ी ज्यादती की जा रही है.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज