Weather Alert : हरियाणा में रहा उमस भरा मौसम, आज बारिश होने के आसार
Chandigarh-City News in Hindi

Weather Alert : हरियाणा में रहा उमस भरा मौसम, आज बारिश होने के आसार
मौसम विभाग का पूर्वानुमान है कि शुक्रवार को बारिश हो सकती है. (प्रतीकात्मक फोटो)

हरियाणा (Haryana) और पंजाब (Punjab) दोनों ही राज्यों में एक सप्ताह पहले दक्षिण-पश्चिमी मॉनसून दस्तक दे चुका है. मौसम विभाग के अनुसार, अगले दो दिन में हरियाणा और पंजाब के कुछ स्थानों पर बारिश हो सकती है या गरज के साथ छींटे पड़ सकते हैं.

  • Share this:
चंडीगढ़. हरियाणा (Haryana) और पंजाब (Punjab) में बृहस्पतिवार को भी मौसम (Weather) गर्म और उमस भरा रहा. यहां अधिकतम तापमान सामान्य से दो-तीन डिग्री सेल्सियस ज्यादा दर्ज किया गया. मौसम विभाग (Meteorological Department) के अनुसार, दोनों ही राज्यों की संयुक्त राजधानी चंडीगढ़ (Chandigarh) में अधिकतम तापमान 37.6 डिग्री सेल्सियस दर्ज किया गया जो कि सामान्य से दो डिग्री सेल्सियस अधिक है.

गर्मी से बेहाल हरियाणा-पंजाब

हरियाणा के हिसार में अधिकतम तापमान 42.6 डिग्री सेल्सियस दर्ज किया गया, जो सामान्य से चार डिग्री सेल्सियस अधिक है. वहीं नारनौल में अधिकतम तापमान 40 डिग्री सेल्सियस दर्ज किया गया. अंबाला में अधिकतम तापमान 38.2 डिग्री सेल्सियस दर्ज किया गया जो कि सामान्य से 3 डिग्री सेल्सियस ज्यादा है. वहीं करनाल में तापमान 37 डिग्री सेल्सियस दर्ज किया गया जो कि सामान्य से 2 डिग्री सेल्सियस अधिक है. पंजाब के अमृतसर में तापमान 40.6 डिग्री सेल्सियस दर्ज किया गया जो कि सामान्य से 5 डिग्री सेल्सियस अधिक है. वहीं लुधियाना और पटियाला में तापमान क्रमश: 40.6 डिग्री सेल्सियस और 38.2 डिग्री सेल्सियस दर्ज किया गया जो कि सामान्य से क्रमश: 5 से 3 डिग्री सेल्सियस अधिक है.



बारिश की उम्मीद
हरियाणा और पंजाब में पिछले तीन-चार दिन में बारिश नहीं हुई है और मौसम उमस भरा हो गया है. दोनों ही राज्यों में एक सप्ताह पहले दक्षिण-पश्चिमी मॉनसून दस्तक दे चुका है. मौसम विभाग के पूर्वानुमान के अनुसार, अगले दो दिन में हरियाणा और पंजाब के कुछ स्थानों पर बारिश हो सकती है या गरज के साथ छींटे पड़ सकते हैं.

मौसम में हुआ हल्का बदलाव

मौसम विभाग के अनुसार दक्षिण पश्चिमी मॉनसूनी हवायों का टर्फ हिमालय की तलहटियों व उत्तर पूर्व व पूर्वोत्तर भागों की तरफ चले जाने से उत्तरी भारत में विशेषकर हरियाणा राज्य में मॉनसूनी हवा कमजोर हो जाने से राज्य में मौसम गर्म और तापमान सामान्य से अधिक हो गया. परन्तु एक साइक्लोनिक सरकुलेशन सिस्टम पूर्वी उत्तर प्रदेश में और एक अन्य साइक्लोनिक सर्कुलेशन सिस्टम मध्य पाकिस्तान में बनने से मॉनसूनी हवा फिर से मैदानी क्षेत्रों की तरफ बढ़नी शुरू हुई, जिससे 29 जून रात्रि से राज्य में उत्तर पूर्व व दक्षिण हरियाणा में मौसम में हल्का बदलाव हुआ है.

ये तैयारी कर लें किसान

4 जुलाई से बारिश की संभावना को देखते हुए किसान बाजरा, ज्वार, अरहर आदि फसलों की बिजाई करते समय बदलते मौसम का ध्यान अवश्य रखें. नरमा कपास में निराई गुड़ाई करें ताकि बारिश होने पर नमी अच्छी प्रकार से संचित हो सके. 4 जुलाई से अच्छी बारिश की संभावना को देखते हुए नरमा कपास की फसल में जलनिकासी का प्रबंध अवश्य करें, ताकि बारिश का पानी ज्यादा देर तक फसल में खड़ा न रह सके.

किसान इस बात का रखें ध्यान

वहीं किसानों को सलाह देते हुए मौसम विभाग के अधिकारियों ने कहा कि कोरेना से बचाव के लिए किसान भाई मुंह पर मास्क या गमछा रखें. खेत में काम करते समय एक दूसरे के बीच व्यक्तिगत दूरी बना कर अवश्य रखें और हाथों को समय-समय पर साबुन या सैनेटाइजर से जरूर साफ करें.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज

corona virus btn
corona virus btn
Loading