हरियाणा में मौसम: 6 मई तक चल सकती हैं धूल भरी हवाएं, किसान नरमा बिजाई के लिए खेत कर लें तैयार

राजस्थान में बदला मौसम, धूलभरी आंधी के साथ बारिश से किसानों को नुकसान. (फाइल फोटो )

राजस्थान में बदला मौसम, धूलभरी आंधी के साथ बारिश से किसानों को नुकसान. (फाइल फोटो )

Weather in Haryana: हरियाणा में 4 से 6 मई के बीच राज्य के ज्यादातर क्षेत्रों में हवाओं व गरज चमक के साथ हल्की बारिश होने की भी संभावना है.

  • Share this:
हिसार. हरियाणा (Haryana) में पिछले पांच दिनों से हल्की गति से उत्तर पश्चिमी/पश्चिमी हवाएं चलने से दिन व रात्रि तापमान में लगातार बढ़ोतरी दर्ज और मौसम (Weather) खुश्क रहा. बुधवार को अधिकतम तापमान 43 डिग्री सेल्सियस और न्यूनतम तापमान 21.5 डिग्री सेल्सियस रहा. चौधरी चरण सिंह हरियाणा कृषि विश्वविद्यालय की कृषि मौसम विभाग के विभागाध्यक्ष डॉ मदन खीचड़ ने बताया कि अगले एक सप्ताह तक लगातार दो पश्चिमी विक्षोभ के प्रभाव से राजस्थान के ऊपर एक साइक्लोनिक सर्कुलेशन बनने की संभावना को देखते हुए राज्य में मौसम 6 मई तक आमतौर पर परिवर्तनशील रहने, बीच-बीच में मध्यम से तेज गति से धूलभरी हवाएं चलने व आंशिक बादल छाए जाने की संभावना है.

मगर 30 अप्रैल रात्रि व 1 मई को कहीं-कहीं धूलभरी ह्वायों के साथ छिटपुट बूंदाबांदी की संभावना है. परंतु 4 से 6 मई के बीच राज्य के ज्यादातर क्षेत्रों में हवाओं व गरज चमक के साथ हल्की बारिश होने की भी संभावना है. जिससे दिन के तापमान तापमान में गिरावट और यह सामान्य के आसपास ही बने रहने की संभावना है.

मौसम आधारित कृषि सलाह:

1. इस सप्ताह मौसम में लगातार बदलाव की संभावना को देखते हुए गेहूं की कटाई व कढाई जल्दी से जल्दी पूरी कर सुरक्षित स्थानों पर रखें.
2. गेंहू की कटी हुई फसल के बंडल अच्छी प्रकार से बांधे ताकि तेज हवा चलने से उड़ न सकें.

3. गेहूं के भूसे/तूड़ी को सुरक्षित स्थानों पर रखे या अच्छी प्रकार से ढके ताकि तेज हवा चलने से तूड़ी उड़ न पाएं.

4. गेहूं को बेचने के लिए मंडी में ले जाते समय तिरपाल अपने साथ अवश्य रखें.



5. हल्की बारिश की संभावना को देखते हुए नरमा की बिजाई के लिए तैयार खेत में नमी संचित रखे व मौसम साफ होने पर ही उत्तम किस्मों के बीजों के साथ बीजोपचार कर बिजाई करें.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज