Home /News /haryana /

हरियाणा में मौसम: शिमला-मनाली से भी ज्‍यादा ठंडा रहा रेवाड़ी, हिसार और नारनौल

हरियाणा में मौसम: शिमला-मनाली से भी ज्‍यादा ठंडा रहा रेवाड़ी, हिसार और नारनौल

राजस्थान में ठंड बढ़ने वाली है.(प्रतिकात्मक फोटो)

राजस्थान में ठंड बढ़ने वाली है.(प्रतिकात्मक फोटो)

Haryana Weather Update: मौसम वैज्ञानिकों का कहना है कि 13 से 16 जनवरी तक कहीं-कहीं घना कोहरा छा सकता है. पाला जमने के भी आसार हैं.

    चंडीगढ़. हरियाणा में ठंड का कहर लगातार जारी है. मौसम वैज्ञानिकों का कहना है कि अगले 24 घंटे में रात का पारा शून्य की ओर जा सकता है. अगले दो दिन में पाला जम सकता है. मौसम वैज्ञानिकों का कहना है कि 13 से 16 जनवरी तक कहीं-कहीं घना कोहरा छा सकता है. वहीं, मंगलवार को रेवाड़ी (Rewari) में रात का पारा 2.0, हिसार में 2.2 और नारनौल में 2.8 डिग्री सेल्सियस पर आ गया. यह मनाली के 2.4 और शिमला के 7.5 डिग्री से काफी कम रहा.

    दिन का पारा सामान्य से 6 डिग्री नीचे पहुंच गया. पंचकूला में यह 11.3, करनाल में 12.4 और अम्बाला में 12.6 डिग्री दर्ज किया गया. हरियाणा के कई जिलों में सुबह कोहरे के कारण कुछ स्थानों पर दृश्यता शून्य हो गई. मौसम विभाग ने देश के उत्तरी मैदानी क्षेत्रों में अगले 4 दिन तक शीतलहर चलने का ऑरेंज अलर्ट जारी किया है.

    न्यूनतम तापमान सामान्य से नीचे रहने की संभावना
    शुष्क उत्तर-पश्चिमी हवाओं के चलते उत्तर-पश्चिम भारत के ज्यादातर हिस्सों में अगले चार-पांच दिनों के दौरान न्यूनतम तापमान सामान्य से नीचे रहने की संभावना है. वहीं, तमिलनाडु और पुडुचेरी के लिए भारी वर्षा का ऑरेंज अलर्ट जारी किया है.
    जनवरी माह में रिकार्ड तोड़ सकती है ठंड
    मौसम विभाग क मुताबिक जनवरी में इस समय ठंड का आखिरी स्पेल है. दिन व रात की ठंड दोनों ही रिकार्ड तोड़ सकती है. अनुमान है कि न्यूनतम तापमान 5.0 डिग्री सेल्सियस से नीचे जा सकता है, इससे नीचे तापमान जाने के बाद पाला जमने की संभावना बढ़ जाती है. दिन के तापमान में भी रिकार्ड गिरावट देखने को मिल रही है.

    Tags: Weather Alert, Weather forecast, Weather updates

    विज्ञापन

    राशिभविष्य

    मेष

    वृषभ

    मिथुन

    कर्क

    सिंह

    कन्या

    तुला

    वृश्चिक

    धनु

    मकर

    कुंभ

    मीन

    प्रश्न पूछ सकते हैं या अपनी कुंडली बनवा सकते हैं ।
    और भी पढ़ें
    विज्ञापन

    टॉप स्टोरीज

    अधिक पढ़ें

    अगली ख़बर