लाठीचार्ज के विरोध में कर्मचारी एकजुट, होगा बड़ा आंदोलन

कर्मचारी नेताओं ने कहा कि सरकार कर्मचारियों पर दर्ज किए मुकद्दमें वापिस लेने के साथ-साथ उनकी विभिन्न मांगों को पूरा करें.

Pardeep Sahu | News18 Haryana
Updated: September 12, 2018, 5:58 PM IST
लाठीचार्ज के विरोध में कर्मचारी एकजुट, होगा बड़ा आंदोलन
प्रदर्शन करते कर्मचारी
Pardeep Sahu
Pardeep Sahu | News18 Haryana
Updated: September 12, 2018, 5:58 PM IST
विधानसभा घेराव के दौरान कर्मचारियों पर हुए लाठीचार्ज को लेकर सर्व कर्मचारी संघ के बैनर तले सरकारी विभागों के कर्मचारियों ने मीटिंग कर चरखी दादरी में रोष प्रदर्शन किया. इस दौरान कर्मचारियों पर एस्मा लगाकर अधिकारों का हनन करने व उनकी आवाज दबाने का विरोध किया. प्रदर्शन के बाद डीसी को सीएम के नाम ज्ञापन सौंपकर कर्मचारियों की मांगे पूरी करने व दर्ल मुकदमों को वापिस लेने की मांग की. साथ ही अल्टीमेटम दिया कि उनकी मांगों पर विचार नहीं किया गया तो इस बार आर-पार की लड़ाई लड़ते हुए प्रदेश के कर्मचारी बड़ा आंदोलन करेंगे.

सर्व कर्मचारी संघ के जिलाध्यक्ष राजकुमार घिकाड़ा की अगुवाई में सरकारी विभागों के कर्मचारियों ने अपनी मांगों को लेकर दादरी के रोज गार्डन में रोष मीटिंग की. मीटिंग के बाद शहर में रोष प्रदर्शन किया और सरकार के खिलाफ नारेबाजी की. इस दौरान कर्मचारियों ने सीएम के नाम डीसी को ज्ञापन सौंपा.

हरियाणा के इन 13 गांवों के किसानों को जलभराव ने बनाया कर्जदार

कर्मचारी नेताओं ने कहा कि सरकार कर्मचारियों पर दर्ज किए मुकद्दमें वापिस लेने के साथ-साथ उनकी विभिन्न मांगों को पूरा करें. इस दौरान उन्होंने विधानसभा घेराव के दौरन कर्मचारियों पर हुए लाठीचार्ज की भी निंदा की. अगर सरकार ने उनकी मांगों को पूरा नहीं किया तो पूरे प्रदेश के सभी विभागों के कर्मचारी एकजुट होकर बड़ा आंदोलन करेंगे.

महिला नेत्री शर्मिला हुड्डा ने कहा कि विधानसभा कूच के दौरान सरकार की दमनकारी नीतियों के खिलाफ प्रदर्शन कर रहे कर्मचारियों पर लाठीचार्ज किया गया. जिस तरह से बीजेपी अपनी मनमानी करने पर उतारू है, एस्मा जैसे नियम लागू कर कर्मचारियों के अधिकारों का हनन कर रही है. अब चुप नहीं बैठेंगे और 18 सितंबर को जिला मुख्यालय पर जेल भरो आंदोलन शुरू करते हुए बड़े आंदोलन की घोषणा करेंगे.
पूरी ख़बर पढ़ें
अगली ख़बर