• Home
  • »
  • News
  • »
  • haryana
  • »
  • बबीता फोगाट अपने बयान पर कायम, बोलीं- राजीव गांधी की बजाए खिलाड़ी के नाम से हो खेल रत्न अवार्ड

बबीता फोगाट अपने बयान पर कायम, बोलीं- राजीव गांधी की बजाए खिलाड़ी के नाम से हो खेल रत्न अवार्ड

बबीता ने निजी कारणों का हवाला देते हुए यह कदम उठाया. उन्‍हें इसी साल 30 जुलाई को इस पद पर नियुक्‍त किया गया था.

बबीता ने निजी कारणों का हवाला देते हुए यह कदम उठाया. उन्‍हें इसी साल 30 जुलाई को इस पद पर नियुक्‍त किया गया था.

बबीता फोगाट (Babita Phogat) अपने ट्वीट (Tweet) पर अडिग. बोलीं- खेलों की भावना को सिर्फ खिलाड़ी समझ सकता है.

  • Share this:
चरखी दादरी. अंतर्राष्ट्रीय महिला पहलवान और खेल विभाग की उपनिदेशक बबीता फोगाट (Babita Phogat) ने राजीव गांधी खेल रत्न पर सवाल उठाए हैं. उन्होंने देश के सर्वोच्च खेल रत्न अवार्ड को राजीव गांधी (Rajiv Gandhi) की बजाए किसी महान खिलाड़ी के नाम पर रखने की बता कही है. बबीता फोगाट ने बताया कि किसी नेता के नाम से नहीं बल्कि किसी खिलाड़ी के नाम पर खेल रत्न अवार्ड होना चाहिए, ताकि खिलाड़ी को भी इस सम्मान पर अहम हो.

बबीता फोगाट ने कहा कि राजनीति के चलते ही खेल रत्न अवार्ड राजीव गांधी जी के नाम से रखा गया है. हालांकि देशभर में बहुत बड़े-बड़े अंतर्राष्ट्रीय खिलाड़ी रहे हैं. इसलिए अगर महान खिलाड़ी के नाम से इस अवार्ड से सम्मानित किया जाए तो खिलाड़ी भी स्वयं को गौरवांवित महसूस करेगा.

ट्वीट पर हुईं थी ट्रोल

बता दें कि बबीता फोगाट ने ट्वीट कर कहा था कि राजीव गांधी के नाम पर इसलिए खेल पुरस्कार दिया जाता है कि उन्होंने एक बार भारत में खड़े-खड़े इटली में भाला फेंक दिया था. ट्रोल हुए ट्वीट पर बबीता ने कहा कि मेजर ध्यानचंद, एकलव्य, द्रोणाचार्य सहित उन सभी खिलाडिय़ों के नाम सर्वोच्च अवार्ड खेल रत्न से जोड़ा जाए. बबीता ने कहा कि आज भी वे अपने ट्वीट और बयान पर अडिग हैं. क्योंकि खेलों की भावाना खिलाड़ी ही समझ सकता है.



बेबाकी से दिया जवाब

बता दें कि खेल विभाग में उप-निदेशक बनने के बाद बबीता अपनी ससुराल मातनहेल पहुंचीं थी. वहां कार्यक्रम के दौरान पूछे गए एक सवाल पर उन्होंने बेबाक अंदाज में कहा कि खेल पुरस्कार राजीव गांधी के नाम की बजाय किसी महान खिलाड़ी के नाम से दिया जाए. ताकि, पुरस्कार हासिल करने वाले खिलाड़ी को भी उसे लेने में गर्व की अनुभूति और ज्यादा हो. साथ ही उन सभी महान खिलाड़ियों को सम्मान मिल सके.

पढ़ें Hindi News ऑनलाइन और देखें Live TV News18 हिंदी की वेबसाइट पर. जानिए देश-विदेश और अपने प्रदेश, बॉलीवुड, खेल जगत, बिज़नेस से जुड़ी News in Hindi.

हमें FacebookTwitter, Instagram और Telegram पर फॉलो करें.

विज्ञापन
विज्ञापन

विज्ञापन

टॉप स्टोरीज