लाइव टीवी

हल्दी रस्म शुरू कर बान पर बैठी बबीता, बाबुल का घर छोड़ने से पूर्व आंखे छलकी

Pardeep Sahu | News18 Haryana
Updated: November 28, 2019, 2:53 PM IST
हल्दी रस्म शुरू कर बान पर बैठी बबीता, बाबुल का घर छोड़ने से पूर्व आंखे छलकी
'दंगल गर्ल' बबीता फौगाट पांच दिन के बान पर बैठीं

अर्जुन अवार्डी बबीता फोगाट (Babita Phogat) के पिता द्रोणाचार्य अवार्डी महावीर पहलवान (Mahavir Phogat) ने बताया कि बबीता की शादी (Marriage) साधारण व हिंदू रिती रिवाज अनुसार होगी. पहलवानों के लिए देशी घी का हलवा, सरसों का साग व खीर-चूरमा बनाया जाएगा.

  • Share this:
चरखी दादरी. दादरी क्षेत्र के गांव बलाली निवासी अंतर्राष्ट्रीय रेसलर व भाजपा नेत्री बबीता फोगाट (Babita Phogat) की एक दिसंबर को होने वाली शादी में उसकी दोस्त विदेशी पहलवान अपना रंग जमाएंगी. राजनेताओं सहित रेसलिंग (Wrestling) से जुड़े पहलवान, अधिकारी व पदाधिकारी भी शादी में पहुंचेंगे. साधारण व हिंदू रितिरिवाज अनुसार होने वाली शादी (Marriage) की तैयारियां चल रही हैं. घर में बबीता की हल्दी की रस्म शुरू होने के साथ शादी की तैयारियां हो गई हैं.

वहीं शादी के बाद दो दिसंबर को दिल्ली में सेरेमनी कार्यक्रम रखा गया है, जिसमें पीएम नरेंद्र मोदी के भी आने की संभावना है. बाबुल का घर छोडऩे से पूर्व बबीता फोगाट भावुक हो उठी और आंखें छलक आई. उन्होंने कहा कि माता-पिता का घर छोड़ऩे को मन नहीं करता लेकिन रीति रिवाजों अनुसार वह शादी कर रही हैं.

बता दें कि बबीता फौगाट की शादी एक दिसम्बर को चरखी दादरी के गांव बलाली में झज्जर जिले के गांव मातनहेल निवासी भारत केसरी पहलवान विवेक सुहाग के साथ है. शादी पूरे साधारण रीति-रिवाज और तमाम हिंदू रस्मों के साथ होगी. बबीता के गांव बलाली में शादी की तमाम रस्में शुरू हो गई हैं.

बबीता फोगाट


बान पर बैठी बबीता

बबीता अपने घर में हिंदू रितीरिवाज के अनुसार पांच दिन का बान पर बैठी. इस दौरान जहां महिलाओं ने मंगल देहाती गीत गाए. वहीं घर पर लेडीज संगीत कार्यक्रम भी हुआ. बबीता को मेहंदी रचाने की रस्म शादी से ठीक एक दिन पहले 30 नवंबर को होगी. बबीता का कहना है कि कुछ विदेश पहलवान व कोच उनकी तरफ से शादी में शरीक होंगे तो कुछ बारात का हिस्सा बनकर विवेक सुहाग की तरफ से आने की बात कह चुके हैं.

शादी में आएंगी सिर्फ 21 बाराती
Loading...

हालांकि एक दिसंबर को शादी में सिर्फ 21 बाराती ही आएंगे और साधारण तरीके से शादी का कार्यक्रम रहेगा. वहीं दो दिसंबर को दोनों पक्षों की ओर से दिल्ली में सरेमनी कार्यक्रम रखा गया है. सेरेमनी में पीएम नरेंद्र मोदी, गृह मंत्री अमित शाह, केंद्रीय मंत्रियों के आलवा सीएम मनोहर लाल सहित अनेक राजनेताओं, विदेशी पहलवानों व देशी पहलवानों को निमंत्रण दिया गया है.

बिना देहज होगी शादी, देसी खाने का होगा मीनू

अर्जुन अवार्डी बबीता फोगाट के पिता द्रोणाचार्य अवार्डी महाबीर पहलवान ने बताया कि बबीता की शादी साधारण व हिंदू रिती रिवाज अनुसार होगी. पहलवानों के लिए देशी घी का हलवा, सरसों का साग व खीर-चूरमा बनाया जाएगा. महाबीर ने बताया कि बबीता की शादी में आठवां फेरा शामिल करते हुए बेटी बचाने के अभियान बारे संदेश दिया जाएगा.

ये है शादी का प्रोग्राम

1 दिसंबर को शाम 4 बजे विवेक सुहाग 21 बारातियों के साथ गांव बलाली में पहुंचेंगे. शाम 5 बजे लगन व भोज रहेगा. इसमें गांव और रिश्तेदार ही मौजूद रहेंगे. 30 नवंबर को रात 8 बजे लेडीज संगीत रखा गया है. शाम 7 बजे फेरे होंगे और 8 बजे ससुराल के लिए विदा होगी.

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए चरखी दादरी से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: November 28, 2019, 2:38 PM IST
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
Loading...