लाइव टीवी

बलाली में खेल प्रोजेक्ट रद्द करने पर छलका दंगल गर्ल का दर्द, बोलीं- CM साहब करें हस्तक्षेप

Pardeep Sahu | News18 Haryana
Updated: February 7, 2019, 3:37 PM IST
बलाली में खेल प्रोजेक्ट रद्द करने पर छलका दंगल गर्ल का दर्द, बोलीं- CM साहब करें हस्तक्षेप
बबीता फोगाट (फोटो-फेसबुक)

एयर कंडीशन कुश्ती हाल रद्द होने पर यहां के खिलाड़िय़ों में रोष है. इस पर बबीता फौगाट ने भी सरकार से नाराजगी जाहिर की है. बबीता ने ट्विटर के माध्यम से सरकार पर निशाना साधा है. बबीता ने मुख्यमंत्री से खुद इस मामले में संज्ञान लेने की अपील की है.

  • Share this:
पूरे देश में दंगल गर्ल के नाम से मशहूर की गीता और बबीता फोगाट का चरखी दादरी जिले का गांव बलाली भी मशहूर हो गया था. हरियाणा सरकार ने यहां आधुनिक खेल स्टेडियम और एयर कंडीशन कुश्ती हाल बनाने की घोषणा की थी. अब सरकार ने स्टेडियम व एयर कंडीशन कुश्ती हाल बनाने से हाथ पीछे खींच लिये हैं और पौने 2 करोड़ रूपये का बजट रद्द कर दिया है.

एयर कंडीशन कुश्ती हाल रद्द होने पर यहां के खिलाड़िय़ों में रोष है. इस पर बबीता फौगाट ने भी सरकार से नाराजगी जाहिर की है. बबीता ने ट्विटर के माध्यम से सरकार पर निशाना साधा है. बबीता ने मुख्यमंत्री से खुद इस मामले में संज्ञान लेने की अपील की है.

बबीता ने किया ट्वीट

बबीता ने अपने ट्वीटर पर लिखा है कि ‘सरकार की ओछी मानसिकता को दर्शाता है. सरकार इस तरह से काम करके क्या दर्शाना चाहती है. सरकार को कम से कम खिलाडिय़ों के साथ तो राजनीति नहीं करनी चाहिए. मैं कुश्ती हाल रद्द करने के लिए सरकार का पुरजोर विरोध करती हूं. मैं चाहती हूं मुख्यमंत्री जी स्वयं इस मामले में हस्तक्षेप करें.

जजपा पार्टी का प्रचार पड़ा भारी

माना जा रहा है कि ये प्रोजेक्ट अब राजनीति की भेंट चढ़ गया है. दरअसल जींद चुनाव में गीता और बबीता फोगाट की ओर से जजपा पार्टी का समर्थन किया गया था और दिग्विजय चौटाला के लिये गीता और बबीता ने वोट मांगे थे. वहीं गीता और बबीता के पिता और द्रोणाचार्य अवार्डी महावीर फौगाट को जजपा में खेल प्रकोष्ठ का जिम्मा दिया गया है. हो सकता है बबीता ने जो राजनीति की बात कही है उसके पीछे ये वजह हो.

खिलाडिय़ों से क्यों हो रही है राजनीति : बबीताअंतर्राष्ट्रीय महिला पहलवान बबीता फौगाट ने बताया कि सरकार खिलाडिय़ों से राजनीति क्यों कर रही है. उसके गांव बलाली में खेल प्रोजेक्ट रद्द करके सरकार क्या दर्शाना चाहती है. खिलाडिय़ों को मूलभूत सुविधाएं देने में राजनीति नहीं होनी चाहिए. मुख्यमंत्री को इस मामले में हस्तक्षेप करने हुए रद्द हुए प्रोजेक्ट को मंजूरी दें, ताकि खेल प्रतिभाओं को यहां से आगे आने का मौका मिल सके.

ये भी पढ़ें:-

बलाली में नहीं बनेगा स्टेडियम और आधुनिक कुश्ती हॉल, सरकार ने रद्द किया प्रोजेक्ट

यमुनानगर: पूर्व विधायक के भतीजे पर हमला, 'बुलेट' पर सवार होकर आए थे बदमाश

सुसाइड से पहले 9वीं की छात्रा ने लिखा- मम्मा प्लीज़ आप और पापा उसे सजा दिलवाओ...

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए चरखी दादरी से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: February 7, 2019, 3:31 PM IST
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर