Kisan Aandolan: BJP-JJP का बहिष्कार, ग्रामीणों ने कहा- कोई भी नेता आया तो कर देंगे छित्तरपरेड

भाजपा और जजपा की एंट्री बैन

भाजपा और जजपा की एंट्री बैन

Kisan Aandolan: ग्रामीणों ने कहा कि दोनों पार्टियों के नेताओं ने अगर गांव में इंट्री की तो छितरपरेड की जाएगी. जो किसानों की बात करेगा, वहीं गांव में आएगा.

  • Share this:

चरखी दादरी. केंद्र सरकार के तीन कृषि कानूनों के खिलाफ किसानों (Farmers) का आक्रोश बढ़ता ही जा रहा है. जिले के गांव समसपुर में भाजपा और जजपा (BJP and JJP) के खिलाफ ग्रामीणों ने प्रदर्शन करते हुए दोनों पार्टियों के नेताओं का गांव में प्रवेश पर बैन लगा दिया है. लोगों ने गांव के एंट्री गेट पर दोनों पार्टियों के नेताओं का गांव में प्रवेश पर निषेध का बोर्ड भी लगा दिया है.

बता दें कि पिछले दिनों फौगाट खाप 19 ने किसान आंदोलन के समर्थन में लोगों ने भाजपा और जेजेपी के नेताओं का गांवों में प्रवेश पर बैन लगाने का निर्णय लिया था. इसी कड़ी में मंगलवार को ग्रामीणों ने पंचायत कर गांव के बाहर एंट्री गेट पर बोर्ड लगा दिया. जिस पर बीजेपी और जेजेपी के नेताओं के गांव में आने पर बैन लगाने का विरोध करने की चेतावनी दी है.

Youtube Video

कृषि कानून किसान हितैषी नहीं
ग्रामीणों ने कहा कि दोनों पार्टियों के नेताओं ने अगर गांव में इंट्री की तो छितरपरेड की जाएगी. जो किसानों की बात करेगा, वहीं गांव में आएगा. स्पष्ट किया कि किसानों के हितों की बात की आड़ में जो तीन कृषि कानून लागू किए हैं, वह किसान हितैषी नहीं हैं. उन्हें किसी भी सूरत में बर्दाश्त नहीं किया जाएगा.

किसानों के खिलाफ षड्यंत्र कर रही सरकार

ग्रामीण भूपेंद्र फौगाट, अनिल, ताराचंद व जयभगवान इत्यादि ने कहा कि सरकार आंदोलनकारी किसानों में फूट डालने की साजिश रच रही है. अब इंटरनेट बंद करके किसानों के खिलाफ षड्यंत्र कर रही है. किसान सरकार के किसी भी षड्यंत्र को सफल नहीं होने देंगे. सरकार की इन नीतियों के विरोध में जेजेपी और भाजपा के नेताओं का बहिष्कार किया है. उन्होंने क्षेत्र के अन्य गांव के किसानों से भी अपील की है कि वह अपने गांव में इन दोनों दलों के लोगों के प्रवेश पर प्रतिबंध लगा दें.

अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज