लाइव टीवी

सोमबीर हत्याकांड: मामला दर्ज न होने पर ग्रामीणों ने DSP कार्यालय का किया घेराव
Charkhi-Dadri News in Hindi

Pardeep Sahu | News18 Haryana
Updated: October 28, 2018, 9:06 AM IST
सोमबीर हत्याकांड: मामला दर्ज न होने पर ग्रामीणों ने DSP कार्यालय का किया घेराव
सोमबीर हत्याकांड: मामला दर्ज न होने पर ग्रामीणों ने DSP कार्यालय का किया घेराव

किसान सोमबीर सिंह की हत्या का मामला दर्ज न होने पर परिजनों ने बाढड़ा में पुलिस उपाधीक्षक कार्यालय के सामने जमकर नारेबाजी की.

  • Share this:
हरियाणा में चरखी दादरी जिले के जगरामबास गांव में भूमि विवाद के कारण पिछले दिनों चली गोली में मारे गए किसान सोमबीर सिंह की हत्या का मामला दर्ज न होने पर परिजनों ने बाढड़ा में पुलिस उपाधीक्षक कार्यालय के सामने जमकर नारेबाजी की.

मृतक पत्नी का आरोप है कि पुलिस की मौजूदगी में पहले तो उसके पति की हत्या कर दी गई और अब मामला दर्ज करने में पुलिस आनाकानी कर रही है. परिजन और ग्रामीणों ने अब आगामी 3 नवंबर तक बेमियादी अनशन और उसके बाद 4 नवंबर को क्षेत्र के तमाम गांवों के ग्रामीणों के साथ दादरी में सीएम मनोहर लाल को पूरी कार्रवाई अवगत करवाने की बात कही है. वहीं डीएसपी ने ग्रामीणों से मुलाकात कर उनको निष्पक्ष जांच का आश्वासन दिया है.

पूरा मामला

दादरी जिले के उपमंडल बाढड़ा के गांव जगरामबास निवासी सोमबीर सिंह (मृतक) की सरेआम गोली मारकर हत्या कर दी गई थी. इस दौरान मामले को दर्ज कर दोषियों के खिलाफ कार्रवाई करने के बजाए पुलिस अभी भी मूकदर्शक बनी हुई है.



डीएसपी कार्यालय के सामने धरने पर बैठे ग्रामीणों के साथ मृतक की विधवा दर्शना ने बताया कि बीते 14 अक्टूबर को वो और सोमबीर अपने खेत में काम कर रहे थे. तभी उस दौरान किसान कमल सिंह और मदन के बीच भूमि जुताई को लेकर विवाद हो गया. तभी बीच-बचाव करने गए सोमबीर को कमल सिंह ने अपनी लाइसेंसी बंदूक से गोली मार दी, जिसके बाद इलाज के लिए अस्पताल पहुंचने पर चिकित्सकों ने उसे मृत घोषित कर दिया.

अपराधियों के खुलेआम घुमने के कारण वे उनका पूरा परिवार डर के साए में जी रहा है. घर में उनकी सास के अलावा 7 से 8 वर्ष के दो बच्चे हैं. पीड़िता ने कहा कि जब तक सभी आरोपियों के खिलाफ मामला दर्ज कर उन्हें जेल नहीं भेज दिया जाता, तब तक वे संघर्ष करती रहेंगी.

इधर, डीएसपी दलीप सिंह ने आंदोलनकारी ग्रामीणों से मुलाकात कर उनको अब तक उठाए गए कदमों से अवगत करवाते हुए निष्पक्ष जांच का आश्वासन दिया है. उन्होंने कहा कि भूमि विवाद में दो ग्रामीणों की मौत हुई थी, जिसमें एक एफआईआर दर्ज की जा चुकी है और उसी के आधार पर दोनों पक्षों के नामों की तफ्तीश चल रही है. आगे जो भी तथ्य मिलेंगे उसके आधार पर त्वरित कार्रवाई की जाएगी.

 

ये भी पढ़ें:- पूर्व आईएएस अधिकारी प्रदीप कासनी ने खट्टर सरकार के मंत्रियों पर लगाए ये आरोप

दादरी: 11 दिन से जारी रोडवेज की हड़ताल में कॉलेज स्टूडेंट्स भी हुए शामिल

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए चरखी दादरी से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: October 28, 2018, 9:06 AM IST
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर