चरखी दादरी : 1 अप्रैल से सरकारी खरीद शुरू होने के दावे फुस्स, मंडी से बाहर अनाज बेच रहे किसान

सुनसान मंडी के शेड के नीचे रखी फसल की बोरियां

सुनसान मंडी के शेड के नीचे रखी फसल की बोरियां

मंडी अधिकारियों की मिलीभगत के चलते तेल मिल मालिक बाहर से ही सरसों खरीदकर सरकार को मार्केट फीस व जीएसटी के लाखों रुपए की चपत लगा रहे हैं.

  • Share this:
चरखी दादरी. आज 1 अप्रैल से सरकारी रेट (Government rate) पर फसलें खरीदने के सरकारी दावे चरखी दादरी (Charkhi Dadri) में हवाई साबित हुए. यहां न तो किसी फसल की सरकारी खरीद (procurement) शुरू हो पाई और न ही किसान अपनी फसल लेकर आए. आढ़तियों (agent) ने अधूरे प्रबंधों व ठोस व्यवस्था न होने के आरोप मंडी अधिकारियों पर आरोप लगाए हैं. वहीं सरकारी रेट से ज्यादा भाव मिलने के कारण मंडी से बाहर ही किसान अपनी सरसों की फसल बेच रहे हैं. हालात ऐसे हैं कि मंडी अधिकारियों की मिलीभगत के चलते तेल मिल मालिक बाहर से ही सरसों खरीदकर सरकार को मार्केट फीस व जीएसटी के लाखों रुपए की चपत लगा रहे हैं. जिसको लेकर आढ़तियों ने सीएम विंडों पर शिकायत करने का निर्णय किया है.

बता दें कि प्रशासन की ओर से सरकारी खरीद के लिए दादरी जिले में 7 खरीद केंद्र बनाए गए थे. दावा किया गया था कि इन केंद्रों पर खरीद के पुख्ता प्रबंध हैं. बावजूद इसके आज से शुरू होने वाली खरीद के दावे हवाई साबित हुए. मंडी में किसान सरसों की फसल लेकर पहुंचे लेकिन न तो कोई अधिकारी मिला और न ही खरीद एजेंसी. ऐसे में किसानों ने तेल मिलों पर अपनी फसल एमएसपी से ज्यादा रेट पर बेची. आढ़तियों ने मंडी अधिकारियों पर आरोप लगाए कि मंडी में खरीद के कोई प्रबंध नहीं है. शौचालय बंद पड़े हैं और उठान नहीं होने से बारिश के दौरान खासी परेशानियों का सामना करना पड़ेगा. उन्होंने आरोप लगाया कि तेल मिलों द्वारा मंडी अधिकारियों की मिलीभगत के कारण मार्केट फीस व जीएसटी की चोरी की जा रही है. किसानों की फसल खरीद के लिए कोई पुख्ता प्रबंध नहीं हैं.

किसान कृष्ण कुमार व आढ़ति सन्नी ने बताया कि मंडी अधिकारी तेल मिल मालिकों से मिलकर मार्केट फीस व जीएसटी की चोरी कर सरकार को लाखों रुपये की चपत लगा रहे हैं. मंडी शेडों के नीचे बाजरा व सरसों की बोरियां रखी हैं जिसके कारण बारिश में फसल भीगने की आशंका है. खरीद के पहले दिन किसी भी मंडी में कोई खरीद शुरू नहीं हुई. वहीं मार्केट कमेटी के जोनल अधिकारी लिजे सिंह से बात की तो उन्होंने इस संबंध में कुछ भी कहने से इनकार कर दिया.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज