भारत बंद को लेकर कई गुटों में बंटी नजर आई कांग्रेस

चरखी दादरी में किरण चौधरी, भूपेंद्र सिंह हुड्डा और अशोक तंवर के समर्थक अलग-अलग एकत्रित होकर शहर में दुकानें बंद करवाने के लिए आह्वान करते नजर आए.

News18 Haryana
Updated: September 10, 2018, 2:11 PM IST
भारत बंद को लेकर कई गुटों में बंटी नजर आई कांग्रेस
कांग्रेस का भारत बंद
News18 Haryana
Updated: September 10, 2018, 2:11 PM IST
पेट्रोल-डीजल की बढ़ी कीमतों के विरोध में कांग्रेस के भारत बंद का चरखी दादरी में मिला-जुला असर देखने को मिला. यहां बंद को लेकर कांग्रेसी भी कई गुटों में बंटे नजर आए. अलग-अलग गुटों में रोष प्रदर्शन करते हुए दुकानें बंद करने का आह्वान किया. हाथ जोड़े तो दुकानदारों ने भी नेता लोगों की इज्जत रखते हुए दुकानें बंद कर ली, लेकिन नेता आगे बढ़े तो दुकानें खोल ली. वहीं बंद को लेकर चरखी दादरी में सुरक्षा के पुख्ता प्रबंध किए गए थे.

चरखी दादरी में किरण चौधरी, भूपेंद्र सिंह हुड्डा और अशोक तंवर के समर्थक अलग-अलग एकत्रित होकर शहर में दुकानें बंद करवाने के लिए आह्वान करते नजर आए. भूपेंद्र हुड्डा गुट के पूर्व मंत्री सतपाल सांगवान अपने समर्थकों के साथ बाजार में बंद करवाने के लिए हाथ जोड़ते नजर आए तो इसी गुट के पूर्व विधायक नृपेंद्र सांगवान ने अपने समर्थकों के साथ प्रदर्शन किया.

फतेहाबाद में नहीं दिखा भारत बंद का असर, दुकानदारों ने खुली रखी दुकानें

तंवर गुट के प्रदेश सचिव अजीत फौगाट और किरण गुट के सुदीप सांगवान ने भी अपने-अपने समर्थकों के साथ बाजार बंद करवाने के लिए दुकानदारों से आह्वान किया. कांग्रेसियों द्वारा बंद का चरखी दादरी में मिला-जुला असर रहा. वहीं दुकानदारों ने बाजार बंद के दौरान कांग्रेसियों के हाथ जोडऩे पर दुकानें बंद की. दुकानदारों ने बताया कि नेता लोग अपनी राजनीति कर रहे हैं. बाजार बंद करने से उन्हें आर्थिक नुकसान हो रहा है. नेताओं की इज्जत रखते हुए दुकानें बंद की हैं.
पूरी ख़बर पढ़ें
अगली ख़बर