लाइव टीवी

चुनावी मौसम में चुनाव की नहीं सब्जियों के बढ़े भाव की हो रही चर्चा
Charkhi-Dadri News in Hindi

Pardeep Sahu | News18 Haryana
Updated: September 28, 2019, 6:34 PM IST
चुनावी मौसम में चुनाव की नहीं सब्जियों के बढ़े भाव की हो रही चर्चा
चुनावी मौसम में सब्जियों के भाव छू रहे आसमान

विधानसभा चुनाव को लेकर चौपाल व बैठकों में चुनावी चर्चाओं के बजाय लोग सब्जियों के बढ़े दामों को लेकर चर्चा कर रहे हैं. प्याज के साथ-साथ अन्य सब्जियां महंगी होने के चलते लोगों के बीच चुनावी बातें गौण हो गई हैं.

  • Share this:
चरखी दादरी. हरियाणा विधानसभा चुनाव (Haryana Assembly Election) के मौसम में प्याज (Onion) की बढ़ती कीमतों का असर चुनाव पर पड़ सकता है. चुनावी मौसम में सब्जियों (Vegetable) के भाव आसमान छू रहे हैं. विधानसभा चुनाव को लेकर चौपाल व बैठकों में चुनावी चर्चाओं के बजाय लोग सब्जियों के बढ़े दामों को लेकर चर्चा कर रहे हैं. प्याज के साथ-साथ अन्य सब्जियां महंगी होने के चलते लोगों के बीच चुनावी बातें गौण हो गई हैं. सब्जियों की बढ़ी कीमत की वजह से हर घर का बजट बिगड़ गया है.

मंडी में सब्जी खरीदने पहुंचा ग्रामीण जगपाल ने बताया कि उसे चुनाव को लेकर कोई रुचि नहीं है, क्योंकि इस समय उसे परिवार के पालन-पोषण को लेकर समस्या है. इस समय सब्जियों के भाव इतने ज्यादा बढ़े हुए हैं कि इन्हें खरीदना आम आदमी के लिए मुश्किल हो गया है.

थाली में घटीं हरी सब्जियां, आलू-प्याज के भी भाव चढ़े


दुकानदार राजेश जाखड़ ने बताया कि महंगाई बढ़ने के कारण लोगों में चुनाव को लेकर खास रुचि नहीं बल्कि सब्जियों के बढ़े दामों को लेकर बातें होती हैं. वहीं नागरिक रतीराम ने बताया कि सब्जियों के बढ़े दामों के बाद लोग चुनावी बातें भूल गए हैं. आमजन को खाने के लाले पड़े हैं. चौपालों पर महंगाई को लेकर ही चर्चाएं की जा रही हैं.

ये भी पढ़ें - AAP पार्टी नेता नवीन जयहिंद ने कहा, जनता CM को हरिद्वार भेजने का काम करेगी

ये भी पढ़ें - अंबाला में पकड़ा गया संदिग्ध, सेब से लदे ट्रक में जा रहा था दिल्ली

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए चरखी दादरी से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: September 28, 2019, 6:34 PM IST
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर