अपना शहर चुनें

States

चरखी दादरी: टोकन काटे जाने के बाद भी नहीं हो रही थी बाजरे की खरीद, गुस्साए किसानों ने मंडी गेट पर जड़ा ताला

किसानों ने मंडी गेट पर जड़ा ताला
किसानों ने मंडी गेट पर जड़ा ताला

किसानों (Farmers) ने काफी देर तक बवाल काटा और प्रशासन (Administration) के साथ-साथ मंडी अधिकारियों पर आरोप लगाए.

  • News18Hindi
  • Last Updated: November 24, 2020, 11:31 AM IST
  • Share this:
चरखी दादरी. अनाज मंडी में कई दिनों से बाजरा की सरकारी खरीद बंद होने व बाजरा खरीद एजेंसियों द्वारा 1500 किसानों (Farmers) के टोकन काटे जाने के बाद भी एजेंसियो द्वारा खरीद नहीं करने से परेशान आढतियों व किसानों के सब्र का बांध टूट गया. भड़क़े आढ़तियों व किसानों ने मार्केट कमेटी में बवाल काटते हुए रोष प्रदर्शन (Protest) किया और मंडी गेट पर ताला जड़ दिया. साथ ही उन्होंने मंडी गेट पर धरना देते हुए प्रशासन व मंडी अधिकारी पर मनमानी के आरोप लगाए. इस दौरान किसान संगठन भी उनके समर्थन में उतरे. मौके पर पहुंचे एसडीएम ने उच्च अधिकारियों से बात कर आढतियों की उनकी मांगों पूरा करने का आश्वासन देते हुए खरीद एजेंसियों को तुरन्त खरीद व उठान का कार्य शुरू करने के आदेश जारी कर काम चालू करवाया.

दादरी अनाजमंडी प्रधान रामकुमार रिटोलिया की अगुवाई में आढती व किसानों ने रोष मीटिंग करते हुए अनाजमंडी स्थित मार्केट कमेटी कार्यालय पहुंचे. यहां उन्होंने काफी देर तक बवाल काटा और प्रशासन के साथ-साथ मंडी अधिकारियों पर आरोप लगाए. मंडी प्रधान ने बताया कि 13 नवम्बर से बाजरे की सरकारी खरीद बंद है, लेकिन इस दौरान लगभग पंद्राह सौ किसानों के टोकन कटने के बाद भी खरीद एजेंसियों द्वारा उनकी खरीद नहीं की गई. किसानों की बाजरे की फसल बाहर खुल्ले में पड़ी हुई है, जिसको लेकर कई बार अधिकारियों से मिल चुके लेकिन समस्या को कोई हल हुआ. जिसको लेकर आढतियों व किसानों ने मार्केट कमेटी के सामने बवाल काटा और गेट पर प्रशासन व सरकार के खिलाफ रोष-प्रदर्शन करते हुए मंडी गेटों पर ताला जड़ दिया.

किसानों ने जताया रोष



वहीं कपास को लेकर भी किसानों ने रोष जताया. इस दौरान आढतियों व किसानों ने अधिकारियों पर मिलीभगत के आरोप भी लगाए. किसान संगठन भी जगबीर घसोला की अगुवाई में धरनास्थल पर पहुंचे और प्रशासन के साथ-साथ मंडी अधिकारियों की कार्यप्रणाली पर रोष जताया. मौके पर पहुंचे एसडीएम विरेन्द्र सिंह ने आढतियों व किसानों से बात कर उनकी समस्याओं को दूर करने का आश्वासन दिया और बाजरे की खरीद एजेंसियों को तुरन्त काम शुरू करने का आदेश दिया. आगे किसानों को किसी प्रकार की समस्या न हो इसके लिए रूपरेखा तैयार कर दी जाएगी. जिसके बाद मंडी के दोनों गेटों को खोला गया। इस दौरान एसडीएम ने मार्केट सचिव से बात कर जांच की.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज