लाइव टीवी

किसानों ने प्रदर्शन कर सरकार का पुतला फूंका, जमीन का उचित मुआवजा नहीं तो रोड नहीं
Charkhi-Dadri News in Hindi

Pardeep Sahu | News18 Haryana
Updated: February 26, 2020, 8:02 PM IST
किसानों ने प्रदर्शन कर सरकार का पुतला फूंका, जमीन का उचित मुआवजा नहीं तो रोड नहीं
सरकार का पुतला फूंकने वाले किसानों ने रोष जुलूस निकाला और सरकार पर उनकी मांगों को पूरी नहीं करने का आरोप लगाया.

ग्रीन कॉरिडोर (Green Corridor) की अधिग्रहीत जमीन (Acquired land) का मुआवजा (Compensation) वृद्धि की मांग को लेकर पिछले एक वर्ष से धरना दे रहे किसानों (Farmers) ने आर-पार की लड़ाई लड़ने का संकल्प लेते हुए हरियाणा सरकार (Haryana Government) का पुतला (Effigy) फूंका. किसानों ने रोष जुलूस निकाला और सरकार पर उनकी मांगों को पूरी नहीं करने का आरोप लगाया.

  • Share this:
चरखी दादरी. ग्रीन कॉरिडोर (Green Corridor) की अधिग्रहीत जमीन (Acquired land) का मुआवजा (Compensation) वृद्धि की मांग को लेकर पिछले एक वर्ष से धरना दे रहे किसानों (Farmers) ने आर-पार की लड़ाई लड़ने का संकल्प लेते हुए हरियाणा सरकार (Haryana
Government) का पुतला (Effigy) फूंका. इस दौरान किसानों ने रोष जुलूस निकाला और सरकार पर उनकी मांगों को पूरी नहीं करने का आरोप लगाया. प्रदर्शन कर रहे किसानों ने आगामी आंदोलन की रूपरेखा भी तैयार की. बता दें कि ग्रीन कॉरिडोर 152डी नेशनल हाईवे का नारनौल से गंगेहड़ी तक निर्माण होना है. इसमें दादरी जिला के 17 गांवों की जमीन भी शामिल है. अधिग्रहीत जमीन का मुआवजा बढ़ाने की मांग को लेकर किसान गांव रामनगर में पिछले एक वर्ष से अनिश्चितकालीन धरने पर बैठे हुए हैं.

किसानों ने प्रति एकड़ दो करोड़ का मुआवजा मांगा 

किसानों की मांग है कि उनकी जमीन का उचित मुआवजा दिया जाए ताकि उनको आर्थिक रूप से परेशानी न हो. हालांकि प्रशासन व सरकार द्वारा किसानों से कई दौर की वार्ता कर प्रति एकड़ 45 से 55 लाख रुपए निर्धारित किया गया, बावजूद इसके किसानों की मांग है कि प्रति एकड़ दो करोड़ रुपए का मुआवजा दिया जाए.



प्रदर्शनकारी किसानों ने कहा कि उचित मुआवजा नहीं मिलेगा तो किसी भी सूरत में रोड का निर्माण शुरू नहीं होने देंगे.


किसानों ने बड़े आंदोलन की चेतावनी दी

मांगों को लेकर धरना दे रहे किसानों ने विनोद मोड़ी व अनूप खातीवास की अगुवाई में धरना की वर्षगांठ पर रोष प्रदर्शन किया. इस दौरान किसानों ने हरियाणा सरकार का पुतला लेकर रोष जुलूस निकाला और फिर सरकार का पुतला फूंका. किसानों ने आरोप लगाया कि सरकार द्वारा उनकी मांगों को पूरा नहीं किया जा रहा है. ऐसे में अब किसान आर-पार की लड़ाई लड़ते हुए बड़ा आंदोलन करेंगे. साथ ही कहा कि उचित मुआवजा नहीं मिलेगा तो किसी भी सूरत में रोड का निर्माण शुरू नहीं होने देंगे.

ये भी पढ़ें - हरियाणा विधानसभा बजट सत्र: 'भारत माता की जय' पर भिड़े BJP-कांग्रेस के विधायक

ये भी पढ़ें - गृहमंत्री के आदेश के बाद पुलिस सख्त,रांग पार्किंग में वाहनों के कटने लगे चालान

 

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए चरखी दादरी से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: February 26, 2020, 8:02 PM IST
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर