Choose Municipal Ward
    CLICK HERE FOR DETAILED RESULTS

    चरखी दादरी: किसानों का अल्टीमेटम, दो करोड़ प्रति एकड़ नहीं तो नहीं बनने देंगे हाईवे

    किसानों का धरना
    किसानों का धरना

    Farmers Protest: ग्रीन कारिडोर की अधिग्रहीत जमीन का मुआवजा वृद्धि की मांग को लेकर दादरी जिले के 18 गांवों के किसानों द्वारा करीब एक वर्ष तक धरना दिया था.

    • Share this:
    चरखी दादरी. निर्माणाधीन ग्रीन कारिडोर 152डी नेशनल हाईवे (National highway) की अधिग्रहित जमीन का उचित मुआवजा नहीं मिलने पर धरना दे रहे किसानों (Farmers) ने सरकार के खिलाफ रोष प्रदर्शन करते हुए सरकार को चेतावनी दी. इस दौरान किसानों ने स्पष्ट किया कि अगर प्रति एकड़ दो करोड़ का मुआवजा नहीं मिला तो ना कब्जा लेने देंगे और ना ही रोड बनने देंगे. चाहे उन्हें गोलियां ही क्यों ना खानी पड़े.

    बता दें कि नारनौल से गंगेहड़ी तक ग्रीन कारिडोर की अधिग्रहीत जमीन का मुआवजा वृद्धि की मांग को लेकर दादरी जिले के 18 गांवों के किसानों द्वारा करीब एक वर्ष तक धरना दिया था. इसी बीच सरकार व प्रशासन ने उचित मुआवजा देने का आश्वासन दिया तो कोराना के चलते धरना स्थगित करना पड़ा. बावजूद इसके किसानों को उचित मुआवजा नहीं मिला तो किसानों ने एकजुट होते हुए गांव खातीवास में धरना शुरू कर दिया.

    एनएचआई द्वारा उनकी जमीन पर कब्जा कार्रवाई नहीं करने देंगे



    धरने की अगुवाई करते किसान नेता अनूप खातीवास ने कहा कि मुआवजा वृद्धि की मांग को लेकर कई बार प्रशासनिक अधिकारियों को अवगत करवाया. बावजूद इसके कोई समाधान नहीं हुआ तो दोबारा से अनिश्चितकालीन धरना शुरू किया है. जब तक उनको उचित मुआवजा नहीं मिलता, वे अब प्रशासन व एनएचआई द्वारा उनकी जमीन पर कब्जा कार्रवाई नहीं करने देंगे. इसके लिए चाहे किसानों को कितनी बड़ी कुरबानी देनी पड़े
    अगली ख़बर

    फोटो

    टॉप स्टोरीज