व्यापारियों ने किसानों से की करोड़ों की ठगी, प्रॉपर्टी बेचकर भागे

किसानों ने उपायुक्त को सीएम के नाम ज्ञापन सौंपकर कार्रवाई की मांग की. इस दौरान किसानों ने अल्टीमेटम दिया कि व्यापारियों के खिलाफ केस दर्ज करने व उनकी ठगी गई करोड़ों रुपए की राशि नहीं मिली तो बड़ा आंदोलन करेंगे.

Pardeep Sahu | News18 Haryana
Updated: June 14, 2019, 3:55 PM IST
व्यापारियों ने किसानों से की करोड़ों की ठगी, प्रॉपर्टी बेचकर भागे
प्रदर्शन करते किसान
Pardeep Sahu
Pardeep Sahu | News18 Haryana
Updated: June 14, 2019, 3:55 PM IST
चरखी दादरी में अनाजमंडी के दो व्यापारियों ने दर्जनभर गांवों के सैंकड़ों किसानों की फसल खरीदने के बाद भुगतान किए बिना करोड़ों रुपए लेकर फरार हो गए. व्यापारियों के फरार होने की सूचना पर गांवों से सैंकड़ों की संख्या में किसान अनाजमंडी में पहुंचे और बवाल काटा. इस दौरान किसानों ने सरकार व प्रशासन के खिलाफ रोष प्रदर्शन करते हुए आरोप लगाए कि सरकार की ऑनलाइन योजना के कारण ही किसानों की खून-पसीने की कमाई को ठग लिया गया.

बाद में किसानों ने उपायुक्त को सीएम के नाम ज्ञापन सौंपकर कार्रवाई की मांग की. इस दौरान किसानों ने अल्टीमेटम दिया कि व्यापारियों के खिलाफ केस दर्ज करने व उनकी ठगी गई करोड़ों रुपए की राशि नहीं मिली तो बड़ा आंदोलन करेंगे.



दोनों फर्मे प्रॉपर्टी बेचकर फरार

बता दें कि दादरी जिले के गांव चरखी, मानकावास, मंदोली, मंदोला, बिरही कलां सहित करीब एक दर्जन गांवों के किसानों ने सरकारी खरीद के दौरान अपनी सरसों दादरी की अनाजमंडी में दो फर्में किरोड़ीमल-रामकुमार व जय दादा गुसांई ट्रेडिंग कंपनी को बेचने के लिए दी थी. इसके अलावा अनेक किसानों ने दोनों फर्मों को अपना गेहूं भी बेचने के लिए डाला था. दोनों फर्मों के मालिकों ने किसानों को अपनी पेमेंट जल्द देने का आश्वासन दिया था. किसानों को अपनी ठगी का एहसास उस समय हुआ जब कुछ किसान व्यापारियों के पास अपनी फसल की राशि लेने पहुंचे. लेकिन दोनों फर्मों व उनके घरों पर ताला लटका मिला. फोन पर भी संपर्क नहीं हुआ तो जानकारी मिली कि दोनों ही व्यापारी अपनी प्रापर्टी बेचकर फरार हो गए.

भाजपा नेता ने किसानों को किया आश्वस्त

किसानों के रोष को देखते हुए भाजपा नेता सोमबीर सांगवान मौके पर पहुंचे और किसानों को आश्वस्त किया कि सरकार की ओर से किसानों को न्याय दिलाया जाएगा. व्यापारियों के साथ हुई ठगी को लेकर पुलिस में केस दर्ज करवाने सहित व्यापारियों की गिरफ्तारी करवाकर किसानों को पेमेंट दिलवाई जाएगी. उधर मंडी प्रधान रामकुमार रिटोलिया ने कहा कि व्यापारियों ने किसानों के साथ जानबुझकर ठगी की है और अपनी प्रॉपर्टी बेचकर फरार हुए हैं. ऐसे में प्रशासन को व्यापारियों के खिलाफ कड़ी कार्रवाई की जानी चाहिए. प्रधान के अनुसार 15 गांवों के किसानों की करीब 30 करोड़ रुपए की राशि लेकर फरार होने वाले व्यापारियों के खिलाफ आढति एसोसिएशन द्वारा भी कड़ी कार्रवाई की जाएगी.

दोषियों के खिलाफ की जाएगी कड़ी कार्रवाई
Loading...

डीसी एमके आहुजा ने बताया कि किसानों ने व्यापारियों द्वारा करोड़ों रुपए की ठगी करने की शिकायत दी है. इस मामले की वे जांच करवाएंगे और जांच के बाद दोषियों के खिलाफ कड़ी कार्रवाई की जाएगी.

ये भी पढ़ें- गुरुग्राम: इराकी नागरिक ने 8वीं मंजिल से फेंककर ली दो कुत्तों की जान, गिरफ्तार

ये भी पढ़ें- विधानसभा चुनाव: बीजेपी की इस समीक्षा के बाद हरियाणा के दो जाट नेताओं के लिए बढ़ी चुनौती!

एक क्लिक और खबरें खुद चलकर आएंगी आपके पास, सब्सक्राइब करें न्यूज़18 हिंदी  WhatsApp अपडेट्स
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
Loading...